Tuesday, 28 September, 2021

ओम स्टर्लिंग ग्लोबल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो.एनपी कौशिक ‘शिक्षा रत्न’ से सम्मानित

न्यूजवेव @ मुम्बई
मुंबई के ‘मैं भारत हूं’ फाउंडेशन द्वारा 21 जुलाई को एक सम्मान समारोह आयोजित किया गया. ‘मैं भारत हू’ फाउंडेशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार विजय कुमार जैन ने कहा कि हमारे देश भारत को अधिकारिक रूप से भारत ही बोला जाए और भारत ही लिखा जाए. इसके दूसरे विकल्प इंडिया का प्रयोग अधिकारिक रूप से बंद होना चाहिए. यह संगठन इसी अभियान को पूरे देश में फैलाना चाहता है तथा प्रत्येक नागरिक में यह चेतना जागृत करना चाहता है कि सभी भारत को भारत कहें, इंडिया नहीं. इस शब्द में गुलामी की गंध आती है और सभी नागरिक अपने आप को भारतीय कहने में गर्व महसूस करें. इस संगठन का लक्ष्य है कि भारत के 75 वे स्वतंत्रता दिवस यानि 15 अगस्त 2022 तक इस लक्ष्य को प्राप्त किया जाए. इस लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए देश के सभी नागरिकों का सहयोग अपेक्षित है. इसलिए संगठन, देश के शिक्षा क्षेत्र, सामाजिक क्षेत्र, योग क्षेत्र आदि में कार्य करने वाले एवं अपना विशिष्ट स्थान रखने वाले लोगों को अपने साथ जोड़ रहा है तथा उन्हें सम्मानित भी कर रहा है.
कार्यक्रम के मुख्य अतिथि माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति एवं जाने-माने पत्रकार प्रो. संजीव दिवेदी रहे। कार्यक्रम में ‘मैं भारत हूं’ संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष विजय कुमार जैन, महामंत्री श्रीमती शोभा सादानी तथा संगठन के राष्ट्रीय सलाहकार एवं राष्ट्रीय स्तर के मोटिवेटर श्री पीएम भारद्वाज जी उपस्थित रहे.
समारोह में ओम स्टर्लिंग ग्लोबल यूनिवर्सिटी के कुलपति प्रो. एन पी कौशिक को “शिक्षा रत्न” की उपाधि से सम्मानित किया गया. कार्यक्रम में शिक्षाविद BTU के पूर्व कुलपति प्रो. एच.डी.चारण, प्रो.आर एल रैना, MNIT के पूर्व निदेशक प्रो.आर पी दहिया को भी ‘शिक्षा रत्न’ से सम्मानित किया गया. कार्यक्रम में समाज में विशिष्ट स्थान रखने वाले व्यक्तियों को ‘समाज रत्न’ एवं योग के क्षेत्र में ‘योग रत्न’ से सम्मानित किया गया. अंत में सभी विशिष्टजनो ने यह शपथ ली कि इस अभियान को पूरे देश में ले जाएंगे और इसे सफल बनाएंगे.

(Visited 42 times, 1 visits today)

Check Also

बहिनों के भाई व अभिभावक का दायित्व निभाऊंगाः बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ने कोरोना महामारी में पति अथवा माता-पिता खो चुकी महिलाओं और बेटियों से …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: