Wednesday, 25 May, 2022

1008 घड़ों से हुआ भोलेनाथ का सहस्त्र घट महाअभिषेक

भजन संध्या में बही भक्ति की बयार, भगवान श्री पिप्पलेश्वर महादेव जी चतुर्थ प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव
न्यूजवेव @ कोटा.
भगवान श्री पिप्पलेश्वर महादेव मंदिर सेवा समिति द्वारा कॉम्पिटिशन कॉलोनी महावीर नगर थाने के पास रंगबाडी रोड स्थित भगवान श्री पिप्पलेश्वर महादेव जी की प्राण प्रतिष्ठा के चार वर्ष पूर्ण होने के शुभ अवसर चतुर्थ प्राण प्रतिष्ठा पर्व का दो दिवसीय महोत्सव का आयोजन वृन्दावन, हरिद्वार इत्यादि धाम से पधारे संत समागम के सानिध्य में हुआ। गुरूवार रात्रि को भजन संध्या का आयोजन किया गया जिसमें एलन के निदेशक गोविंद माहेश्वरी के मुखारबिंद से भजनों की सुमधुर बयार बही।

“भोलेनाथ से निराला कोई और नहीं…, राधा की पालय छम-छम बाजे…,नी मैनू सांवला सलौना पसंद आ गया…” सरीखे एक से बढकर एक भजनों की प्रस्तुति ने पांडाल में सभी को नाचने पर मजबूर कर दिया। पूरा पांडाल भक्तों से अटा पडा था। भजनों से पूरा माहोल भक्तिमय हो उठा और भोलेनाथ के साथ बांके बिहारी के जयकारे गुंजाएमान रहे। इस दौरान बांके बिहारी की झांकी सजाई गई।

पंडित शीतल प्रसाद शर्मा ने बताया कि इस द्वि दिवसीय आयोजन के अंतर्गत भगवान श्री पिप्पलेश्वर महादेव मंदिर के दिव्य आनंदोत्सव में भक्तिरस का अद्भुत प्रवाह ठाकुर श्री बांके बिहारी जी की कृपा से अमृत वितरण महोत्सव (मंदिर प्रसादी) में सम्मिलित होकर विलक्षण भागवत कृपा प्राप्त करने के लिए सभी रहें।

मंत्रोच्चार के साथ हुआ सहस्त्र घट महाअभिषक
संयोजक दिलीप सिंह चौहान व कुलदीप माहेश्वरी ने बताया कि शुक्रवार सुबह से ही सहस्त्र घट महाअभिषेक किया गया। 1008 घडों के अमृतजल से भोलेनाथ का मंत्रोच्चार के साथ अभिषेक हुआ। इस दौरान अटल्ला चुगी श्री राम मंदिर धाम के महंत 1008 रघुनाथ जी महाराज, मोजी बाबा आश्रम की महामंडलेश्वर साध्वी हेमा सरस्वती, कबीर पंत के संत व वृंदावन से पधारे साधु संतों के सानिध्य में सहस्त्र घट महाअभिषक किया गया। मंत्रोच्चार से वातावरण में भक्तिरस समाहित रहा। इस अवसर पर महादेव को भोग लगाया गया। भोलेनाथ की महाआरती हुई और प्रसाद वितरण किया गया। कार्यक्रम में राजस्थान और दूसरे प्रदेशों से साधु संत व श्रद्धालु उपस्थित रहे।

(Visited 48 times, 1 visits today)

Check Also

आज से ‘थैलिसीमिया मुक्त कोटा’ अभियान का आगाज 

अन्तरराष्ट्रीय थैलिसीमिया दिवस : कोटा में कई थेलिसिमया रोगियों ने बीमारी को हराया न्यूजवेव @ …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: