Tuesday, 27 October, 2020

आईआईटी ने 4 घंटे बाद ही पेपर जारी कर चौंकाया

  • 222 शहरों के 1150 परीक्षा केंद्रों पर सीबीटी मोड में हुई JEE Advanced 
  • फिजिक्स में रही मुश्किलें जबकि मैथ्स व केमिस्ट्री में संतुलित रहे सवाल
  • 5 अक्टूबर को घोषित होगा रिजल्ट

न्यूजवेव @ कोटा

जेईई-एडवांस्ड परीक्षा,2020 रविवार को देश के 222 शहरों के 1150 परीक्षा केंद्रों पर सीबीटी मोड में हुई। पेपर-1 सुबह 9 से 12 बजे तक और पेपर-2 दोपहर 2ः30 से 5ः30 बजे हुये। आईआईटी दिल्ली ने परीक्षा के 4 घंटे बाद रात 9ः30 बजे जेईई-एडवांस्ड वेबसाइट पर दोनों पेपर अपलोड कर सबको चौंका दिया। वेबसाइट पर पेपर देखकर करीब 1.50 लाख परीक्षार्थियों ने राहत की सांस ली। वे शिक्षकों के साथ मिलकर पेपर एनालिसिस करके अपने संभावित स्कोर का अनुमान लगाते रहे।

आईआईटी के अनुसार, गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष तीनों विषयों से कुल 396 अंकों के 108 प्रश्न पूछे गये। इसमें पेपर-1 तथा पेपर-2 में फिजिक्स, केमिस्ट्री व मैथ्स से तीन-तीन सेक्शन में 66 अंकों के 18-18 प्रश्न पूछे गये। इस तरह, प्रत्येक पेपर में 198 अंकों के कुल 54 प्रश्न पूछे गये।

इंटीजर प्रश्नों पर रहा फोकस
न्यूक्लियस एजुकेशन के निदेशक विशाल जोशी के अनुसार, पेपर-1 में कुल 18 प्रश्नों में 6 सिंगल, 6 मल्टीपल च्वाइस, तथा 6 इंटीजर (दो दशमलव) प्रश्न पूछे गये। मार्किंग स्कीम में सिंगल प्रश्नों में सही आंसर पर 3 तथा गलत पर 1 माइनस अंक का प्रावधान किया गया। मल्टीपल प्रश्नों में सही में 4 अंक तथा -2 नेगेटिव अंक रहा। जबकि इंटीजर प्रश्नों में नेगेटिव मार्किग नहीं थी। प्रत्येक प्रश्न 4 अंक का रहा। जबकि गत वर्ष यह 3 अंकों के थे।
पेपर-2 में प्रत्येक सब्जेक्ट में 6 प्रश्न सिंगल एंटीजर वाले रहे, जिसमें सही होने पर 3 तथा गलत होने पर -1 अंक रहा। 6 सवाल न्यूमेरिकल वैल्यू वाले 2 डेसिमल तक रहे। 6 सवाल मल्टीपल करेक्ट रहे, जिसमें सही होने पर 4 व गलत होने पर -2 अंक तथा पार्शल मार्किंग का ऑप्शन रहा। यह पेपर 198 अंकों का रहा।
गत वर्ष से कठिन रहा पेपर
एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट के निदेशक बृजेश माहेश्वरी के अनुसार, जेईई-एडवांस्ड 2020 का पेपर गत वर्ष की तुलना में कठिन व लम्बा रहा। पेपर-1 में मैथ्स के सवाल कठिन व लंबे रहे। इसमें ओलम्पियाड लेवल के सवाल पूछे गए। इसके साथ ही फिजिक्स व कैमेस्ट्री का स्तर औसत रहा। पेपर-2 में फिजिक्स टफ व मैथ्स में सवाल टफ रहे। केमिस्ट्री में औसत स्तर के सवाल पूछे गए। आर्गेनिक केमिस्ट्री में एरोमेटिक और स्टीरियो आइसोमेरिज्म के सवाल ज्यादा थे। इसके साथ ही इनआर्गेनिक केमिस्ट्री में कॉर्डिनेशन केमिस्ट्री, साल्ट एनालिसिस और केमिकल बॉडिंग से प्रश्न पूछे गये।

कॅरियर पॉइंट के अकादमिक निदेशक शैलेन्द्र माहेश्वरी के अनुसार,  इस बार दूसरा प्रश्न पत्र पहले के मुकाबले लम्बा तथा कठिन था अर्थात पहला तुलनात्मक रूप से सरल था. फिजिक्स का पेपर ओवरऑल कठिन था. दूसरे पेपर की मैथ्स अधिक कैलकुलेशन होने के कारण लंबी थी. केमिस्ट्री का स्तर दोनों पेपर में सामान्य से थोड़ा ऊपर था, स्तरीय रहा. गत वर्ष की तुलना में पेपर सामान्य रहा पर कुछ प्रश्न हल करने में समय अनुसार अधिक लम्बे रहे.

(Visited 71 times, 1 visits today)

Check Also

फ़ूल, थाली पर इंटर्नशिप डॉक्टर्स की जेब खाली

मेडिकल इंटर्नशिप स्ट्राइक, राजस्थान : क्या आधे अधूरे संसाधनों, एक मजदूर के बराबर कम मानदेय …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: