Tuesday, 20 October, 2020

संघ कार्य पर समाज का विश्वास निरंतर बढ़ रहा है: सरसंघचालक डॉ. भागवत

संघ समाज के सभी वर्गों को एक दिशा में चलाने वाला व्यूह बना रहा
– सामाजिक कुरीतियों से मुक्ति के लिए सामाजिक सद्भाव बैठकें हो
न्यूजवेव @ जयपुर
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत ने शनिवार 3 अक्टूबर को सेवा सदन में जयपुर प्रांत की टोली से कोरोना काल में किए सेवा कार्य, शिक्षा, स्वरोजगार एवं स्वावलम्बन कार्यों पर चर्चा की। डॉ. भागवत ने कहा कि जितना बड़ा सेवा कार्य कोरोना की परिस्थितियों में हुआ है, उसका अनुवर्तन करते हुए जनसमस्याएं सुनकर उनके निराकरण की योजना प्रत्येक जिला स्तर पर और क्रियान्वयन खण्ड स्तर पर हो। जिससे संघ व समाज का एक दिशा में चलने वाला व्यूह बनें। उन्होंने कहा कि संघ कार्य पर समाज का विश्वास निरंतर बढ़ रहा है।
शिक्षा के क्षेत्र विशेष बल देते हुए डॉ. भागवत ने कहा कि विद्यालय संचालकों, शिक्षकों, अभिभावकों एवं दानदाताओं चारों से संवाद करके समाधान निकालना चाहिए। उन्होंने कहा कि सामाजिक सद्भाव बैठक हों जिससे समाज में व्याप्त कुरीतियों से मुक्ति मिल सके और देश के सामने जो समस्या है, उनका समाधान सामाजिक स्तर पर निकाला जा सके। उन्होंने युवा कार्यकर्ताओं के विकास, शाखा क्षेत्र के सामाजिक अध्ययन, व्यवसायिक स्वयंसेवकों के नियोजन, क्षेत्र संरचना, श्रमिकों एवं कृषकों की शाखा, मिलन व व्यवसाय के अनुसार उनके एकत्रीकरण एवं मुख्य मार्गों के कार्य के महत्व पर चर्चा हुई।
जयपुर प्रांत संघचालक डॉ. महेन्द्र सिंह मग्गो ने बताया कि कोरोना लॉकडाउन के दौरान स्वयंसेवकों द्वारा समाज के विभिन्न संगठनों के साथ मिलकर सेवा कार्यों को पूरा किया। साथ ही स्वरोजगार के लिए दिए जा रहे प्रशिक्षण व स्वावलम्बन के लिए चलाए जा रहे प्रकल्पों पर भी चर्चा हुई।
वंचित वर्ग के लिये कार्ययोजना बने
उन्होंने बताया कि समाज के वंचित व अभावग्रस्त वर्ग के स्वावलम्बन के लिए और क्या प्रयास किए जा सकते हैं। इसके लिए समाज सभी वर्गों को साथ लेकर कार्ययोजना पर सभी ने सुझाव दिए हैं। कोरोना के कारण शैक्षिक संस्थान बंद होने से निजी विद्यालयों के शिक्षकों को आर्थिक परिस्थितियों से जूझना पड़ रहा है। इसके समाधान के लिये जिला स्तरीय समिति बनाकर कार्य करने पर बातचीत हुई। इस दौरान तीन सत्रों में बैठकें हुई। बैठक में जयपुर प्रांत के शासकीय 12 जिलों में संघ रचना के 24 जिलों के आए संगठन श्रेणी के शारीरिक, बौद्धिक, व्यवस्था प्रमुख तथा जागरण श्रेणी के सेवा, सम्पर्क व प्रचार कार्य विभाग के प्रांत स्तर के कार्यकर्ताओं से संगठनात्मक विषयों पर चर्चा की।
निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार सरसंघचालक ने वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने अनौपचारिक संवाद किया। इसके साथ ही उत्तर-पश्चिम (राजस्थान) क्षेत्र कार्यकारिणी के पदाधिकारी उपस्थित रहे। इस दौरान जयपुर में निवासरत संघ अखिल भारतीय पदाधिकारी भी भेंट हेतु उपस्थित रहे।

(Visited 113 times, 1 visits today)

Check Also

NEET-UG मे दो विद्यार्थियों ने 100 प्रतिशत अंकों से बनाया रिकॉर्ड

रिजल्ट: इस वर्ष 15.97 पंजीकृत में से 13.66 लाख ने दी परीक्षा जिसमें से कुल …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: