Tuesday, 20 October, 2020

एलन छात्रा कनिष्का को ऑल इंडिया गर्ल्स टॉपर का खिताब

जेईई एडवांस्ड रिजल्ट: टॉप-10 में 2 और टॉप-100 मे 35 स्टूडेंट ने मारी बाजी
न्यूजवेव @ कोटा
जेईई-एडवांस्ड 2020 के रिजल्ट में एलन कॅरियर इंस्टीट्यूट की छात्रा कनिष्का मित्तल ने ऑल इंडिया गर्ल्स टॉपर बनने का कीर्तिमान रचा।  कुल 396 में से 315 अंकों के साथ उसने आईआईटी रूडकी जोन टॉपर होने का खिताब भी जीता। उसे मेरिट में AIR-17 मिली है। एलन के क्लासरूम छात्र वैभव राज ऑल इंडिया मेरिट सूची में  AIR-3 के साथ ही आईआईटी दिल्ली जोन टॉपर बनकर चमके हैं। क्लासरूम छात्र आर. मुहिन्द्र राज ने AIR-4 पर कब्जा किया है।


निदेशक राजेश माहेश्वरी ने बताया कि जेईई-एडवांस्ड की मेरिट में एलन से टॉप-10 में 2 तथा टॉप 20 में 7 स्टूडेंट चयनित हुये हैं। संस्थान से टॉप-50 में 15 व टॉप-100 में 35 स्टूडेंट को सफलता मिली है। इसमें 29 क्लासरूम तथा 6 दूरस्थ शिक्षा से हैं। शीर्ष रैंक में दो छात्रायें गर्ल्स कैटेगिरी में रैंक-1 व रैंक-2 पर विजयी रहीं।
उन्होंने बताया कि छात्र हर्ष शाह AIR-11, लक्ष्य गुप्ता AIR-12, सिंधुजा गुट्टा AIR-18 तथा शिखर मूंदड़ा AIR-20 अर्जित करने में सफल रहे हैं। छात्रा सिंधुजा गुट्टा आईआईटी दिल्ली जोन में गर्ल्स टॉपर रही।

मैने खुद से मुकाबला किया

कनिष्का मित्तल – Girls AIR-1
पिताः अनुज कुमार मित्तल, फोटोस्टेट शॉप
मांः सुचिता मित्तल

मुरादाबाद की छात्रा कनिष्का मित्तल को गर्ल्स केटेगरी में ऑल इंडिया टॉपर होने का खिताब मिला। वह दो साल से एलन में अध्ययनरत है। उसने कभी दूसरों से तुलना नहीं की। मुकाबला हमेशा खुद से रहा। इसलिए अपना बेस्ट देने की कोशिश की। खुद पर विश्वास था कि मैं कर सकती हूं। रेगुलर होमवर्क करती थी। क्वेश्चंस की खूब प्रेक्टिस की। 12वीं बोर्ड में 98.4 स्कोर किया। लॉकडाउन की वजह से परीक्षा आगे खिसकी तो अतिरिक्त समय का पूरा फायदा उठाया। तीनों विषयों के वीक प्वाइंट्स को मेहनत से मजबूत किया। जिससे टॉप रैंक मिल सकी।

जिस केमिस्ट्री ने डराया, उसी ने जिताया भी


वैभव राज, AIR-3
पिताः सुनील कुमार रॉय, सी.साइंटिफिक अफसर, रक्षा मंत्रालय
मांः सुधा रॉय

अपनी मां के साथ मैं 2 साल कोटा में रहा। आईजेएसओ में गोल्ड मेडल हासिल कर चुका हूं। 10वीं में 98 प्रतिशत एवं 12वीं बोर्ड में 99 प्रतिशत अंक मिले। एनटीएसई स्कॉलर वैभव आईजेएसओ में गोल्ड मेडल जीत चुका है। जेईई-मेन में रैंक-45 मिली। कोटा आने से पहले मैं कैमिस्ट्री से डरता था लेकिन कोटा मंे आने के बाद वहीं मेरा फेवरिट सब्जेक्ट बन गया। स्ट्रेटेजी बनाकर जेईई-एडवांस्ड की तैयारी की। लॉकडाउन से सिलेबस को रिवीजन करने का मौका मिला। मैं आईआईटी मुम्बई से बीटेक कर अपना स्टार्टअप शुरू करूंगा।

कोटा में आत्मविश्वास मजबूत हुआ


आर मुहिन्दर राज, AIR-4
पिता- डी.ए राजवी, बिजनेसमेन
मां- आर कासीमालार

बैंगलुरु के आर. मुहिन्द्र राज ने जेईई-मेन में 100 एनटीए स्कोर किया। कोटा सपनों का शहर है, यहां हर स्टूडेंट अपने सपने सच करने में जुट जाता है। इस माहौल से आत्मविश्वास बढा। लॉकडाउन में रिवीजन करने से कंसेप्ट ज्यादा मजबूत हो गए। आईसीएचओ में सिल्वर मैडल एवं केवीपीवाय में रैंक-5 मिलने हमेशा जीतने का जुनून रहा। एनटीएसई स्कॉलर मुहिंद्र को 12वी बोर्ड में 97.4 प्रतिशत अंक मिले। कोडिंग में रुचि होने से एमआईटी से बीएस करने का सपना है। इसकी तैयारी में जुटा हूं।

 

(Visited 27 times, 1 visits today)

Check Also

आईआईटी दिल्ली में इंसान करेगा कुत्ते की देखभाल

‘डॉग हेंडलर’ के रूप में डिग्रीधारी युवा को मिलेगा 45 हजार रू. वेतन न्यूजवेव @ …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: