Wednesday, 19 June, 2024

देवनारायण योजना में पशु शिफ्ट नही किये तो आवंटन होंगे निरस्त

नगरीय विकास मंत्री के निर्देश पर कोटा को कैटल फ्री शहर बनाने की मुहिम तेज
न्यूजवेव@कोटा

स्मार्ट सिटी कोटा में आवारा मवेशियों द्वारा राहगीरों को घायल कर देने की घटनायें बढ़ जाने पर नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने यूआईटी और नगर निगम अधिकारियों को ऐसे पशुपालकों के विरूद्ध कडी कार्यवाही करने एवं शहर को कैटल फ्री बनाने के निर्देश दिये। न्यास उपसचिव ताहिर मोहम्मद ने बताया कि बुधवार से यूआईटी और नगर निगम द्वारा संयुक्त अभियान शुरू कर शहर के कुछ क्षेत्रों में आवारा मवेशियों को पकडकर गौशाला में भेजा और अवैध बाडे संचालित करने वालों पशुपालकों को कडी कार्यवाही करने की चेतावनी दी। नगर निगम व न्यास के दस्ते में काऊकेचर के साथ 100 से अधिक कर्मचारी व अधिकारियों की 10 टीमें और पुलिस जाब्ता शामिल रहा।
पहले दिन 60 मवेशी पकड़े, 3 बाडे हटाये
अभियान में बुधवार को दशहरा मैदान ,किशोरपुरा, थर्मल चौराहा, गोदावरी धाम क्षेत्र एवं सुभाष नगर इलाके में टीमों ने 60 मवेशियों को पकड़ कर 6 ट्रोलो की मदद से किशोरपुरा गौशाला शिफ्ट किया। सुभाष नगर क्षेत्र में 3 अवैध बड़ों को हटाकर पशुपालकों को नोटिस दिये गये। टीमों को रात्रि में भी अभियान चलाने के निर्देश दिए गए।
देवनारायण योजना में शिफ्ट नही तो आवंटन निरस्त
यूआईटी के ओएसडी आरडी मीणा ने बताया कि नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल की पहल पर पशुपालकों के लिए देश की अनूठी देवनारायण योजना विकसित कर दी गई है, जहां बड़ी संख्या में पशुपालक पशुओं के साथ शिफ्ट हो गए हैं। इस योजना में जो आवंटी पशुपालक अब तक शिफ्ट नहीं हुए हैं उनका आवंटन निरस्त कर पशुओं को जब्त करने की कार्रवाई की जायेगी।

(Visited 222 times, 1 visits today)

Check Also

जेईई-एडवांस्ड,2024 में एलन छात्र वेद लाहोटी बने ऑल इंडिया टॉपर

आईआईटी मद्रास द्वारा 14 दिन में रिजल्ट घोषित, एलन की द्विजा पटेल बनी गर्ल्स टॉपर …

error: Content is protected !!