Thursday, 30 May, 2024

भाजपा में जनाधार वाले सक्रिय कार्यकर्ताओं को टिकट देने की मांग उठी

न्यूजवेव @ कोटा
अगले माह कोटा जिले में होने वाले पंचायत समिति व जिला परिषद चुनाव में भाजपा के सक्रिय व जनाधार वाले कार्यकर्ताओं को पार्टी प्रत्याशी बनाये जाने की मांग पुरजोर ढंग से उठने लगी है।
कोटा उत्तर से पूर्व भाजपा विधायक प्रहलाद गुंजल ने बताया कि वे पिछले कुछ दिनों से अस्वस्थ होने से शनिवार को बड़ी संख्या में कोटा जिले के ग्रामीण भाजपा कार्यकर्ताओं सहित पूर्व संसदीय सचिव एवं पूर्व भाजपा विधायक भवानीसिंह राजावत व पूर्व विधायक विद्याशंकर नंदवाना भी उनसे मिलने पहुँचे।
गुंजल निवास पर हुई बैठक में भाजपा कार्यकर्ताओं ने कहा कि पंचायत समिति व जिला परिषद चुनाव में प्रभारियों द्वारा भाजपा के सक्रिय कार्यकर्ताओं की अनदेखी की जा रही है। कई वार्डों में पैराशूट उम्मीदवार उतारने की कोशिशें की जा रही हैं, जिससे पार्टी संगठन से जुडे़ लोगों में आक्रोश है। कार्यकर्ताओं की बैठक में तीनों पूर्व भाजपा विधायकों भवानी सिंह राजावत, प्रहलाद गुंजल व विद्याशंकर नंदवाना ने एक स्वर में मांग उठाई कि पंचायत समिति व जिला परिषद चुनाव में वर्षों से भाजपा के समर्पित एवं जनाधार वाले कार्यकर्ताओं को ही उम्मीदवार बनाया जाए।
तीनों पूर्व विधायकों ने कार्यकर्ताओं का आव्हान किया कि कोटा में पांच पंचायत समिति व जिला परिषद में भाजपा बोर्ड बनाना हमारी पहली प्राथमिकता हो। कार्यकर्ताओं की नाराजगी बिल्कुल सही है। हम ग्रामीण क्षेत्रों से प्रतिनिधित्व करते आ रहे हैं। उन्होने कहा कि पार्टी ने नगर निकाय चुनाव में भी वरिष्ठ लोगों की अनदेखी कर प्रभारी लगाए व टिकट आवंटन में पक्षपात किया, जिससे भाजपा अपने ही गढ़ कोटा में भी भाजपा का बोर्ड नहीं बना सकी। कोटा-बूंदी क्षेत्र के सभी 12 निकाय कांग्रेस के हाथ में चले गये। उन्होंने आरोप लगाया कि पंचायत चुनाव में नियुक्त प्रभारी को ग्रामीण क्षेत्रों की वास्तविक स्थिति की जानकारी नहीं है। यदि टिकट वितरण में गलती हुई तो पार्टी को फिर से नुकसान उठाना पड़ सकता है।
कोटा नगर निगम चुनाव से सबक लें


पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत ने पार्टी नेतृत्व से मांग की कि कोटा ने एक नेता विशेष के निर्देश पर चेहतों को टिकट देने से नतीजे उलटे आये हैं। इस परिपाटी को खत्म कर सामूहिक निर्णय के आधार पर टिकट दिए जायें। तीनों पूर्व विधायकों ने कहा कि हमारा एक ही लक्ष्य हो कि पार्टी किस तरह मजबूत हो जिससे आगामी 2023 में राजस्थान में भाजपा सरकार बने।
बैठक में तीनों पूर्व विधायकों के साथ, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष विजय गौतम, वरिष्ठ भाजपा नेता गिरिराज बोबस, चंद्रभान मीणा इटावा, प्रताप सिंह खातोली, केएल मीणा विनायका, मनीष शर्मा दीगोद, ओम तिवारी कल्याणपुरा, रमेश अमोरा, सुरेंद्र सिंह, निर्मला, जगदीश नागर तालाब गांव, प्रकाश मीणा कालारेवा, कमलेश शर्मा बूढ़ादीद, हंसराज नागर, पूर्व प्रधान दिनेश भंडारी, पूर्व प्रधान चंद्रमोहन मीणा, राजकुमार गुर्जर, राजकुमार उदयवाल, राजकुमार नंदवाना, रमेश सुमन, चंद्रप्रकाश शर्मा, चेचट सांगोद से देवानंद गौतम, नरेश गुर्जर, रामभरोस शर्मा, ब्रजमोहन मेहता, बृजमोहन मीणा, युवा मोर्चा नेता धीरेंद्र प्रताप सिंह एवं ईश्वर सेन सहित बड़ी संख्या में देहात जिला कोटा की सभी पंचायत समितियों से कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

(Visited 623 times, 1 visits today)

Check Also

डॉ. हेमलता गांधी ने जन्मदिवस पर देहदान का संकल्प लिया

देहदान-संकल्प : हमारे ऋषिमुनियों से सीखें दान का महत्व, इसी भाव ने देहदान-संकल्प के लिए …

error: Content is protected !!