Monday, 18 October, 2021

20 कैरेट ज्वैलरी पर हॉल मार्किंग से गोल्ड की डिमांड बढेगी

शु़द्वता की गारंटी से ग्राहकों का विश्वास बढ़ेगा, अब 14,18,20,22 व 23 केरेेट गोल्ड हॉलमार्किंग से मिल सकेगा
न्यूजवेव @ कोटा
केेंद्र सरकार द्वारा 20 कैरेट गोल्ड ज्वैलरी पर हॉलमार्क अनिवार्य कर देने का सर्राफा व्यवसासियों ने स्वागत किया है। इससे पहले केन्द्र सरकार ने भारतीय गोल्ड ज्वैलरी पर हॉलमार्क अनिवार्य कर दिया था जिसमें 14 केरेट,18 केरेट एवं 22 केरेट ज्वैलरी को ही हॉलमार्क की मंजूरी दी थी।
देशभर के सर्राफा व्यवसायी लंबे समय से 20 कैरेट ज्वैलरी पर भी हॉलमार्किंग अनिवार्य करने की मांग कर रहे थे जिसे केन्द्रीय वाणिज्य उद्योग व उपभोक्ता मामलात मंत्री पीयूष गोयल ने सहमति दे दी है। इससे देशभर के सर्राफा व्यापारी 20 कैरेट ज्वेलरी भी बेच सकेंगे।


पहले केंद्र सरकार द्वारा 3 मानकों के ज्वैलरी को ही हॉलमार्क मंजूरी देने से स्थानीय सर्राफा कारोबार में परेशानी हो रही थी। हॉलमार्किंग को तर्कसंगत बनाने के लिये प्रदेश के व्यापारी 20, 23 एवं 24 केरेट पर कारोबार की मंजूरी देने की मांग कर रहे थे। बारां सर्राफा संघ ने केन्द्रीय मंत्री पीयूष गोयल तथा व्यापारियों की मांग को केन्द्र सरकार तक पहुंचाने के लिए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का आभार जताया है।
बारां सर्राफा संघ के अध्यक्ष ललित मोहन खंडेलवाल, महामंत्री पवन बंसल, कोषाध्यक्ष राजेन्द्र मंगल ने बताया कि उत्तर भारत में वर्षो से 20 केरेट ज्वैलरी का चलन ज्यादा है जिस पर हॉलमार्क नही लगने से सभी स्तर के व्यापारी प्रभावित हो रहे थे। अब हॉलमार्क के लिए 6 प्रकार के केडर निर्धारित होने से उपभोक्ता को गुणवत्ता से माल मिल सकेगा तथा व्यापारी भी अपना कारोबार अलग-अलग मानक में कर सकेंगे।
सर्राफा संघ पदाधिकारियों ने बताया कि मंगलवार को बीआईएस ने 20, 23 की ज्वेलरी पर हॉलमार्किंग शुरू कर दिया है। 24 केरेट पर तकनीकी कारणों के कारण अभी तक हॉलमार्किंग नही हो पा रही था। उसे भी जल्द शुरू कर दिए जाने की संभावना है।


पारस ज्वैल्स, कोटा के प्रबंधक पारस जैन ने बताया कि सरकार का उद्वेश्य ग्राहकों को शुद्वता की गारण्टी देने का है, जो 6 केडर के गोल्ड में हॉलमार्क मिलने से ग्राहकों को पूरी तरह संतुष्ट करेगा। 20 केरेट पर हॉलमार्किंग लगने से पूरे सर्राफा कारोबारी आसानी से कार्य कर सकेंगे। शहरों के साथ छोटे बडे कारोबारी अपना ब्राण्ड स्थापित कर प्रतिस्पर्धा में गुणवत्तापूर्ण ज्वैलरी का कारोबार करेंगे, जिससे कारोबार में बढोतरी हो सकेगी।
यूनिक आईडी से निजता का हनन
सर्राफा संघ पदाधिकारियों ने बीआईएस द्वारा हॉलमार्किंग के साथ यूनिक आईडी का विरोध करते हुए कहा कि इस प्रक्रिया से व्यापारियों व उपभोक्ता की निजता का हनन होगा, सरकार का उद्वेश्य की नकली हॉलमार्किंग पर रोक लगाने का है। इसके लिए हॉलमार्किग सेंटर्स का नियमित सत्यापन किया जा सकता है। यूनिक आईडी लगने से व्यापारी ओर उपभोंक्ता दोनों को परेशानी का सामना करना पडेगा। 20 केरेट ज्वेंलरी पर होल मार्किंग शुरू कर दिए जाने पर सर्राफा संघ संरक्षक विनोद बंसल, जगदीष सिंघल, जयनारायण हल्दिया, अशोक गर्ग, प्रमोद थुणगर, अशोक गंगवाल, अनुराग जैन, पीयूष गर्ग, जसवंत सिंह जाडेजा, गोपाल सोनी, कन्हैया सोनी सहित सभी व्यापारियों ने केन्द्रीय मंत्री का आभार जताया।

(Visited 68 times, 1 visits today)

Check Also

सीए महेश गुप्ता लघु उद्योग भारती कोटा के अध्यक्ष निर्वाचित

न्यूजवेव @ कोटा लघु उद्योग भारती कोटा इकाई की बैठक में गुरूवार को सर्वसम्मति से …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: