Saturday, 15 May, 2021

जोड़ी-जोरदार कॉन्टेस्ट में दिखा हुनर व हौसले का जलवा

‘द रॉयल दिवा कॉन्टेस्ट’ सेमीफाइनल राउंड में वंदना़-अनुष्का, विजयलक्ष्मी़-मोना, बीना-़लक्षिता की जोडियां रही विनर

न्यूजवेव@ कोटा

राज्य में वुमन एम्पावरमेंट की सबसे अनूठी पहल ‘द रॉयल दिवा कॉन्टेस्ट’ के सेमीफाइनल राउंड में हर उम्र की महिलाओं ने मंच पर अपने हुनर व स्किल के साथ हौसले का प्रदर्शन किया। कोटा ज्ञानद्वार एजुकेशन सोसाइटी और द वेदास वुमन डेवलपमेंट एंड कल्चरल सोसाइटी के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित ‘द रॉयल दिवा कॉन्टेस्ट’ की शुरूआत अक्टूबर,2018 में की गई थी।

 

18 से 72 वर्ष के आयुवर्ग में महिलाओ ने सेमीफाइनल राउंड में भाग लिया। 29 दिसंबर को आहलुवालिया मॉल में हुए भव्य समारोह में मुख्य अतिथि उपमहापौर सुनीता व्यास, विशिष्ट अतिथि अधिवक्ता कल्पना शर्मा एवं डॉ.मीनाक्षी शारदा रहीं।

दर्शक बोल उठे- ‘जोडी जोरदार..’


सेमीफाइनल राउंड में महिलाओं के पारिवारिक संबंधों में मिठास लाने और उन्हें प्रोत्साहित करने के लिए ‘जोड़ी जोरदार कॉन्टेस्ट” का अनूठा आयोजन हुआ। इस रोचक प्रतियागिता में महिलाएं माँ-बेटी, सखी-सहेलियां, देवरानी-जेठानी और प्यारी-बहने बनकर जगमगाते मंच पर उतरी। उन्होंने एक्टिंग, डांसिंग, मिमिक्री जैसे टैलेंट के जरिए अपनी प्रतिभा से मधुर रिश्तो का इजहार किया तो दर्शकों की आवाज गूंज उठी- जोडी जोरदार..।
घर-परिवार में देवरानी-जेठानी की प्यार भरी मीठी नोक झोंक, माँ-बेटी के दोस्ताना रिश्तों को देख दर्शक आनन्दित हो उठे। अंत में निर्णायक टीम पुखराज भाटिया, पुष्पांजलि विजय, रीना शर्मा, शुभाश्री अग्रवाल ने प्रतिभागी वंदना-़अनुष्का(माँ-बेटी),विजयलक्ष्मी़-मोना (सखी-सहेलियाँ), बीना़-लक्षिता (माँ-बेटी) की जोड़ी को विजयी घोषित किया।

‘द रॉयल दिवा प्रतियोगिता‘ सेमीफाइनल से पहले सभी प्रतिभागियों ने परंपरागत परिधानों में रैंप वॉक किया। रॉयल दिवा का मंच उस नारी शक्ति को समर्पित रहा, जिसमे नॉलेज, टेलेंट व ब्यूटी का संगम हो। जिनकी पर्सनैलिटी दूसरों के लिए प्रेरणा हो। सेमीफाइनल राउंड के निर्णायक मंडल में सूत्रा की कामना अरोड़ा, मैगपायी इंस्टिट्यूट के हिमांशु अरोड़ा, मिस इंडिया (यूनिवर्स) टैलेंटेड-2018 रीटा शर्मा, मिस इंडिया ग्लोब’-2018 डॉ. नीतू लाहोटी भी अतिथि कलाकार के रूप में शामिल हुए।

लीक से हटकर प्रतियोगिता


समारोह में उपमहापौर सुनीता व्यास ने कहा कि हाडौती अंचल में महिला सशक्तिकरण के इस अनूठे प्रयास ‘द रॉयल दिवा कांटेस्ट’ ने अभिभूत कर दिया। विशिष्ट अतिथि अधिवक्ता कल्पना शर्मा ने कहा कि कॉन्टेस्ट में मंच के माध्यम से परिवार को जोड़े रखने का प्रयास लीक से हटकर लगा। ग्रैंड फिनाले से महिलाओं में आत्मविश्वास और बढेगा। माँ भारती एजुकेशनल ग्रुप के निदेशक दिनेश विजय ने कहा कि वे 5 जनवरी को होने वाले ग्रैंड फिनाले को सफल बनाने में सहयोग देंगे। लोक अदालत के मजिस्ट्रेट प्रोफेसर अरुण शर्मा ने कोटा शहर में महिलायों के संवर्धन के लिए किये जा रहे ऐसे प्रयासो की सराहना की।

(Visited 82 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में ऑक्सीजन की कमी से सैंकड़ों कोरोना रोगियों की सांसे अटकी

घरों पर आइसोलेट हुये कोराना रोगियों को ऑक्सीजन लेवल 89 से नीचे होने पर भी …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: