Monday, 27 June, 2022

जिनके माता-पिता का साया उठा, उन्हें निःशुल्क ऑनलाइन कोचिंग देगा ‘ई-सरल‘

कोरोना महामारी के दौरान बेसहारा हुए विद्यार्थियों को निःशुल्क पढ़ाकर हौसला बढ़ा रहे कोटा के कोचिंग संस्थान
न्यूजवेव @ कोटा 

लोकसभा अध्यक्ष व सांसद ओम बिरला की अपील पर शिक्षानगरी कोटा के प्रमुख कोचिंग संस्थानों ने कोरोना महामारी से प्रभावित ऐसे विद्यार्थियों को निःशुल्क कोचिंग देने की पहल की है, जिनके माता-पिता की कोरोना की चपेट में आने से आकस्मिक मृत्यु हो गई है। ऑनलाइन कोचिंग में अग्रणी संस्थान ‘ई-सरल‘ ने सामाजिक सरोकार के तहत देशभर में इंजीनियरिंग एवं मेडिकल प्रवेश परीक्षाओं की तैयारी कर रहे विद्यार्थियों को 9वीं, 10वीं,11वीं एवं 12वीं की ऑनलाइन प्लेटफॉर्म से निःशुल्क कोचिंग देने का निर्णय किया है।

‘ई-सरल‘ कोचिंग संस्थान के प्रबंध निदेशक प्रो.एन.के. गुप्ता ने बताया कि कोरोना महामारी से अब तक भारत मे 2.87 लाख से अधिक लोगों की आकस्मिक मृत्यु हो चुकी है, जिसमें ऐसे बच्चे भी हैं जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु हुई है। इस दुखद परिस्थिति में किसी भी बच्चे की आगे पढाई नही रुके, उनके भविष्य का ध्यान रखते हुए ‘ई-सरल‘ ने उनकी पढाई की जिम्मेदारी उठाने की मुहिम प्रारम्भ की है।

‘ई-सरल‘ ऑनलाइन कोचिंग का नेशनल प्लेटफार्म


‘ई-सरल‘ ऐसा नेशनल प्लेटफार्म है, जिसमें कोटा के अनुभवी आईआईटीयन व डॉक्टर फेकल्टी देशभर के लाखों विद्यार्थियों को क्लास 9 से 12वीं तक, जेईई-मेन, जेईई-एडवांस्ड एवं नीट प्रवेश परीक्षाओं की ऑनलाइन कोचिंग दे रहे हैं। ई-सरल बच्चों को वीडियो लेक्चर, स्टडी मेटेरियल, टेस्ट पेपर, वन टू वन मेंटरशिप, डाउट सॉल्विंग भी उपलब्ध करवाता है ।
‘ई-सरल‘ एप प्लेस्टोर से डाउनलोड करें
‘ई-सरल‘ संस्थान के फेकल्टी आईआईटीयन प्रतीक गुप्ता एवं सारांश गुप्ता ने कहा कि महामारी के इस दौर में कई विद्यार्थियों के सिर से माता-पिता का साया उठ जाने के बाद आर्थिक अभाव से उनकी आगे की पढ़ाई बाधित हो गई है। ऐसे परिवारों पर नई मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा है। आपदाओं से जूझ रहे किसी भी बच्चे की भविष्य की पढाई ना रुके, इसके लिए ‘ई-सरल‘ टीम ने बेसहारा बच्चों का मनोबल बनाये रखने के लिए कक्षा-9वीं से 12वीं तक निःशुल्क ऑनलाइन कोचिंग देने का निर्णय लिया है। ताकि ऐसे बच्चे अपनी योग्यता से जेईई-मेन व जेईई-एडवांस्ड में चयनित होकर एनआईटी या आईआईटी से बीटेक कर सकें। साथ ही, मेडिकल छात्र नीट में चयनित होकर किसी अच्छे मेडिकल संस्थान से एमबीबीएस कर अपने परिवार को सम्बल दे सकें।
इच्छुक विद्यार्थी ‘ई-सरल’ एप को प्लेस्टोर से डाउनलोड कर सकते हैं www.esaral.com/app । ई-सरल का हेल्पलाइन नम्बर है- 8955203131 और इस सुविधा को प्राप्त करने के लिए विद्यार्थी यह आवेदन पत्र भरें www.esaral.com/covidhelpforstudents

(Visited 347 times, 1 visits today)

Check Also

कर्नाटक 12वीं बोर्ड रिजल्ट घोषित, टॉप-10 रैंक पर रेजोनेंस-बेस के विद्यार्थियों का कब्जा

कर्नाटक 12वीं बोर्ड (PUC 2) परीक्षा 2022 में रेजोनेंस – बेस के विद्यार्थियों का टॉप …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: