Thursday, 30 May, 2024

भारतीय ध्वज और सरकार के प्रयासों से हुई सुरक्षित वापसी

स्पीकर बिरला से मिलने पहुंचे यूक्रेन से लौटे विद्यार्थी

न्यूजवेव @ कोटा

यूक्रेन से लौटे विद्यार्थी और उनके अभिभावक रविवार को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलने कैंप कार्यालय पहुंचे। विद्यार्थियों ने कहा कि यूक्रेन के कठिन हालात में भारतीय ध्वज उनका सबसे बड़ा सहारा बना। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में केंद्र सरकार के प्रयासों के कारण ही वे सुरक्षित लौट सके।

यूक्रेन में कीव, खारकीव, मारियापोल, लवीव सहित विभिन्न शहरों में पढ़ रहे इन विद्यार्थियों ने बताया के युद्ध चालू होने के बाद उनका पड़ौसी देशों की सीमाओं तक पहुंचना बहुत मुश्किल हो गया था। ऐसे में उन्होंने भारतीय ध्वज को थामा और आगे बढ़ने लगे। रास्ते में जहां भी नाकाबंदी थी, वहां भारतीय ध्वज को देख उन्हें तत्काल आगे बढ़ने की अनुमति मिल गई। यह देख अनेक पाकिस्तानी विद्यार्थियों ने भी भारतीय ध्वज उठा लिया।

विद्यार्थियों ने बताया कि केंद्र सरकार की ओर से विद्यार्थियों के लिए सभी प्रकार की व्यवस्थाएं की गई थीं। बाॅर्डर पार करने के बाद फ्लाइट का इंतजार करने के दौरान भी सरकार ने उनका पूरा ध्यान रखा। इसके लिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्र सरकार का आभार भी जताया तथा मुश्किल वक्त में उनके परिवारों का संबल बनने के लिए लोकसभा अध्यक्ष बिरला को धन्यवाद दिया।

अभिभावकों ने बच्चों का भविष्य सुरक्षित करने के लिए उन्हें भारत में ही आगे की पढ़ाई जारी रखने की अनुमति दिलाने का आग्रह किया। स्पीकर बिरला ने कहा कि वे उनकी मांग को सक्षम स्तर तक पहुंचाकर राहत दिलवाने का प्रयास करेंगे।

(Visited 222 times, 1 visits today)

Check Also

प्रचंड तापमान ने जेईई-एडवांस्ड परीक्षार्थियों की ली दोहरी परीक्षा

 जेईई-एडवांस्ड, 2024: देश के 222 शहरों व राजस्थान में कोटा सहित 10 शहरों के परीक्षा …

error: Content is protected !!