Tuesday, 23 July, 2024

इस वर्ष कठिन रहा नीट-यूजी का पेपर

केमिस्ट्री व बायोलॉजी में मिला सुकून जबकि फिजिक्स में छूटा पसीना, लेंदी रहा पेपर
अरविंद
न्यूजवेव @ नई दिल्ली/कोटा
नेशनल टेस्टिंग एजेंसी द्वारा रविवार को देश-विदेश के 202 शहरों में नीट-यूजी,2021 परीक्षा पेन-पेपर मोड में आयोजित की गई। इस वर्ष 16.10 लाख विद्यार्थियों ने पंजीयन कराया था, जिसमें से 15 लाख से अधिक परीक्षा में शामिल हुये। खास बात यह है कि इनमें से 9 लाख गर्ल्स हैं। अर्थात इस वर्ष 60 प्रतिशत गर्ल्स परीक्षार्थियों ने डॉक्टर बनने में रूचि दिखाई है।एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशक बृजेश माहेश्वरी ने बताया कि नीट-यूजी का पेपर गत वर्ष से स्तरीय रहा। तीनों विषयों में प्रश्न अच्छे व लेंदी रहे। पूरा पेपर एनसीईआरटी पर आधारित रहा। बायोलॉजी में जेनेटिक्स व इकोलॉजी जैसे टॉपिक्स के सवाल जूलॉजी व बॉटनी दोनों में पूछे गये। फिजिक्स के प्रश्न पहले से कठिन रहे।

पेपर पैटर्न बदला
नेशनल मेडिकल कमीशन के निर्देश पर एनटीए ने नीट-यूजी,2021 के पेपर पैटर्न में मामूली बदलाव किया। 720 अंकों के पेपर में दो-दोे सेक्शन में कुल 180 अंकों के 50 बहुविकल्प प्रश्न पूछे गये। फिजिक्स, केमिस्ट्री, बॉटनी एवं जूलॉजी प्रत्येक विषय में सेक्शन-ए में 140 अंकों के 35 प्रश्न थे। जबकि सेक्शन-बी में 40 अंकों के 15 प्रश्न पूछे गये, जिसमें से 10 प्रश्न हल करना था।
एक समान अंक होने पर योग्यता से मिलेगी रैंक
एनटीए ने नीट-यूजी,2021 में दो या अधिक विद्यार्थियों द्वारा एक समान अंक प्राप्त करने पर मेरिट सूची में ऑल इंडिया रैंक (AIR) निर्धारित करने के नियम बदल दिये हैं। इस वर्ष दो या इससे अधिक विद्यार्थियों के एक समान परसेंटाइल अंक होने पर उनकी टाई-ब्रेकिंग बॉटनी, जूलॉजी एवं केमिस्ट्री में प्राप्तांक के आधार पर तथा अंत में परीक्षा में सभी विषयों में सही उत्तर अधिक होने तथा गलत उत्तर कम से कम होने के आधार पर ऑल इंडिया रैंक निर्धारित की जायेगी।
83,075 MBBS सीटों पर मिलेगा प्रवेश

नीट-यूजी,2021 में 50 परसेंटाइल प्राप्त करने वाले परीक्षार्थियों को काउसंलिंग के लिये क्वालिफाई घोषित कर दिया जायेगा। हालांकि देशभर के मेडिकल कॉलेजों में इस वर्ष 83,075 एमबीबीएस की सीटें हैं, जिनके लिये 15 लाख से अधिक दावेदार हैं। इस तरह, 1 MBBS की सीट पर 18 विद्यार्थियों के बीच मुकाबला रहेगा। कम रैंक वाले विद्यार्थी मेडिकल संस्थानों में बीडीएस की 26,949 एवं आयूष कोर्स की 52,720 सीटों पर प्रवेश ले सकेंगे।
महाराष्ट्र में सर्वाधिक परीक्षार्थी
नीट-यूजी,2021 परीक्षा में महाराष्ट्र से सर्वाधिक 2.28 लाख परीक्षार्थी हैं, जबकि उत्तरप्रदेश से 1.54 लाख ने पंजीयन करवाया है। राजस्थान से 1.38 लाख पे पंजीयन करवाया, जिसमें से 1.28 लाख से अधिक ने परीक्षा दी है। गत वर्ष नीट-यूजी में 7,71,500 (56.44 %) परीक्षार्थी क्वालिफाई हुये थे। यह संख्या कुल सीटों से पांच गुना अधिक होती है।

(Visited 308 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में प्रत्येक कोचिंग विद्यार्थी की यूनिक आईडी बनेगी

कोचिंग विद्यार्थियों को अन्य कोर्सेस की जानकारी भी दें, फीस वापसी की सरल पॉलिसी बनायें, …

error: Content is protected !!