Thursday, 25 April, 2024

नीट-यूजी,2024 में टाई-ब्रेकिंग नियम बदले

– NTA द्वारा रिवाइज्ड इनफॉरमेशन बुलेटिन जारी, कंप्यूटर-ड्रा से नहीं होगा मेरिट का फैसला

न्यूजवेव @ कोटा

नेशनल टेस्टिंग एजेंसी-एनटीए, नई दिल्ली ने स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार तथा नेशनल मेडिकल कमीशन-एनएमसी,नई दिल्ली के दिशा निर्देशों की पालन करते हुए नीट-यूजी,2024 के टाई-ब्रेकिंग नियमों में परिवर्तन किया है तथा रिवाइज्ड इनफॉरमेशन बुलेटिन भी जारी कर दिया है। एजुकेशन एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि नए टाइ-ब्रेकिंग नियमों के अनुसार मेरिट लिस्ट में ऑल इंडिया रैंकिंग का फैसला अब कंप्यूटर-ड्रॉ से नहीं होगा। देव शर्मा ने बताया कि रिवाइज्ड इनफॉरमेशन बुलेटिन के अनुसार अब टाइ ब्रेकिंग के 7-नियम जारी किए हैं। टाइ-ब्रेकिंग के नए नियम अनुसार समान अंक प्राप्त होने पर-

1. बायोलॉजी में अधिक अंक प्राप्त करने वाले को बेहतर रैंक दी जाएगी

2. फिर से टाइ होने पर केमिस्ट्री में अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी को बेहतर रैंक मिलेगी।

3. तत्पश्चात फिजिक्स में प्राप्त अधिक अंक प्राप्त करने वाले

4. उस विद्यार्थी को बेहतर रैंक प्राप्त होगी जिसका इनकरेक्ट एवं करेक्ट आंसर्स का अनुपात कम होगा।

5. फिर से टाई होने पर बायोलॉजी में इनकरेक्ट तथा करेक्ट आंसर्स का कम अनुपात बेहतर रैंक निर्धारित करेगा।

6. केमिस्ट्री  में इनकरेक्ट एवं करेक्ट आंसर्स के कम अनुपात से बेहतर का निर्धारण होगा।

7. अंत में फिजिक्स  में इनकरेक्ट तथा करेक्ट आंसर्स का कम अनुपात बेहतर रैंक निर्धारित करेगा।

त्रुटि-सुधार का मौका मिलेगा-

मेडिकल प्रवेश परीक्षा नीट-यूजी,2024 के ऑनलाइन आवेदन में हुई त्रुटियों को सुधारने का मौका अवश्य मिलेगा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA),नई दिल्ली की ऑफिशल वेबसाइट पर फ्लैश की जा रही सूचना के अनुसार त्रुटि सुधार का मौका ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया पूर्ण होने के पश्चात दिया जाएगा। एजुकेशन एक्सपर्ट देव शर्मा ने बताया कि विद्यार्थियों को ऑनलाइन आवेदन में हो चुकी त्रुटियों की सूचना आवश्यक तौर पर एनटीए-नई दिल्ली को देनी होगी। त्रुटि तकनीकी हो अथवा मानवीय किंतु उनकी लिखित सूचना एनटीए-नई दिल्ली को neet@nta.ac.in ईमेल के माध्यम से दी जानी आवश्यक है। देव शर्मा ने बताया कि विद्यार्थीयों को कंफर्मेशन-पेज का प्रिंट संभाल कर रखना होगा।फिंगरप्रिंट तथा थंब-इंप्रेशंस को लिखकर विद्यार्थी अधिक चिंतित नहीं हों और किसी भी अवस्था में एक से अधिक आवेदन फॉर्म भरने की भूल नहीं करें। देव शर्मा ने बताया कि प्रतिवर्ष विद्यार्थियों द्वारा किए गए लिखित आग्रहों के अनुसार एनटीए-नई दिल्ली द्वारा विद्यार्थी हित में ही निर्णय लिए जाते रहें हैं। आवेदन पत्र में हुई त्रुटि में सुधार हेतु एजेंसी द्वारा यथासंभव मौके विद्यार्थियों को दिए जाते हैं।

रजिस्टर्ड मोबाइल-नंबर तथा ईमेल-ऐड्रेस पर प्राप्त सूचनाओं को जांचते रहे विद्यार्थी

देव शर्मा ने बताया कि विद्यार्थियों को ऑनलाइन आवेदन फार्म में रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर तथा ईमेल ऐड्रेस पर एजेंसी द्वारा भेजी जाने वाली सूचनाओं को निरंतर जांचते रहना है। आवेदन-पत्र की त्रुटियों की सूचना तथा अन्य सूचनाओं इन्हीं पर जारी की जाती हैं।

(Visited 39 times, 1 visits today)

Check Also

आपका एक-एक वोट देश को मजबूत करेगा – अमित शाह

न्यूजवेव @कोटा कोटा-बूंदी सीट पर चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में शनिवार को भाजपा के …

error: Content is protected !!