Sunday, 16 June, 2024

कोटा मुद्रा उत्सव-2022 में दिखेंगी दुर्लभ प्रचीन मुुद्रायें

17 व 18 दिसम्बर को मुद्रा प्रदर्शनी में प्रदर्शित होंगे 800 सिक्कों के रूप
न्यूजवेव @कोटा

कोटा फ्लेटली एंड न्यूम्समेटिक सोसायटी और रोटरी क्लब कोटा नॉर्थ द्वारा 17 व 18 दिसंबर को कोटा मुद्रा उत्सव-2022 आयोजित किया जायेगा। सोसायटी के चेयरमैन लकेश दंडोना ने बताया कि रोटरी क्लब बसंत विहार में आयोजित मुद्रा उत्सव में एग्जीबिशन टेकर्ड फेयर ऑफ कॉइंस, करंसी एंड कलेक्टेबल्स के तहत भारत की प्राचीन रियासतों और विभिन्न कालखंड में प्रचलित मुद्राओं को प्रदर्शित किया जायेगा।


शनिवार प्रातः 10 बजे नागरिक सहकारी बैंक के चेयरमैन राजेश बिरला मुद्रा प्रदर्शनी का उद्घाटन करेंगे। वरिष्ठ उद्यमी गोविंद राम मित्तल एवं डाक विभाग के एसएसपी जीएन कांवरिया विशिष्ट अतिथि होंगे। इस प्रदर्शनी में देशभर के मुद्रा संकलनकर्ता 35 फ्रेम में लगभग 800 सिक्के प्रदर्शित करेंगे।
200 साल पुरानी मुद्रा भी दिखेगी
सोसायटी अध्यक्ष श्रीनारायण चाणक व सचिव रामअवतार सरडा ने बताया कि यहां 2600 साल पुरानी मुद्रा भी देखने को मिलेगी। वहीं कोटा बूंदी, झालावाड़, जयपुर, जोधपुर, प्रतापगढ़, जैसलमेर, करोली, मेवाड, बीकानेर, केकडी, जयपुर, भरतपुर सहित कई जगह के राज परिवारों द्वारा प्रचलित मुद्रा भी आकर्षण का केन्द्र होगी। राजस्थानी संस्कृति को संयोए करीब 250 से 300 साल पुराने सिक्के यहां होंगे। इसमें प्लास्टिक के नोट, सुरमेदानी सहित प्रतिकारात्मक सिक्के भी नजर आएंगे।
कोषाध्यक्ष नरेन्द्र कुमार कटियाल ने बताया कि प्रदर्शनी में कोटा के पवन हटीला द्वारा प्लास्टिक के नोट, सरदार मंजीत सिंह अहमदगढ द्वारा महाराजा रणजीत सिंह रियासत के सिक्के, मिंट टकसाल लगा रहे हैं। अशोक राटा केकडी द्वारा 10 रुपए से 1000 रुपए तक के प्रतिकारात्मक सिक्के लगाये जायेंगे। शेख इफ्तकार हुसैन मलेर कोटला द्वारा तैयार आकर्षक सुरमेदानी लोगों को आकर्षित करेंगी। अजय अग्रवाल द्वारा ग्वालियर रियासत के सिक्के, लुधियाना के चमकोर सिंह द्वारा यहां सिख कोइंस व आजादी दौरान के व सतलुज रियासत के सिक्के भी यहां रहेंगे। तरूण सिंगला भटिंडा मोडमंडी से मुगल व ब्रिटिश विलियम, किंग जार्ज तक के सिक्के यहां प्रदर्शित करेंगे। वैभव शर्मा द्वारा 2600 साल पुराने सिक्कों का इतिहास रहेगा।
साइकिल टोकन, स्टाम्प, हस्तलिखित धार्मिक ग्रंथ भी
लकेश दंडोना ने बताया कि अहमदगढ़ के सरदार परमिंर सिंह द्वारा हस्त लिखित धार्मिक ग्रंथ यहां लगाए जाएंगे, लुधियाना के हरजीत सिंह लोटे द्वारा वायर पजल लगाएंगे। लुधियान के ही जगरूप सिंह द्वारा साइकिल के टोकन (लाइसेंस) और कोटा के सौरभ लोढा द्वारा स्टॉम्प, सिक्के, डाक टिकट की प्रदर्शनी भी यहां रहेगी। इसके साथ ही शुभम लोढा द्वारा जर्नी आफ टेलीग्राम से भी लोगों को अवगत कराया जाएगा। इसके साथ ही यहां कोडी, एक, दो पैसा सहित देश विदेश की कई आकर्षित करने वाली मुद्रा का संकलन एक ही जगह पर देखने को मिलेगा।

(Visited 307 times, 1 visits today)

Check Also

मेड़तवाल समाज की तीर्थनगरी खैराबाद में परिचय सम्मेलन आज से

महासंगम: दो दिवसीय विराट परिचय सम्मेलन, 12 को रात्रि में सामूहिक विवाह सम्म्मेलन व 14 …

error: Content is protected !!