Wednesday, 25 May, 2022

कॅरिअर पाइंट यूनिवर्सिटी में स्टूडेंट एक साथ दो डिग्री कोर्स कर सकेंगे

10वें स्थापना दिवस समारोह का आयोजन
न्यूजवेव@ कोटा
शिक्षा नगरी में कॅरियर पॉइंट विश्वविद्यालय, कोटा का 10वां स्थापना दिवस समारोहपूर्वक मनाया गया। इस अवसर पर सीपीयू कोटा के 10 वर्षों की स्वर्णिम यात्रा को विभिन्न प्रस्तुतियों के माध्यम से बखूबी प्रस्तुत किया। कुलपति प्रमोद माहेश्वरी ने दीप प्रज्जवलन के साथ समारोह का शुभारंभ किया। सरस्वती वंदना के बाद उप कुलपति डॉ. टी.आर.शर्मा ने अतिथियों का स्वागत करते हुए विश्वविद्यालय की 10 वर्षो की शैक्षणिक उपलब्धियों की जानकारी दी।

मुख्य अतिथि प्रो. जे.के. मेहता ने कहा कि शिक्षा का अर्थ केवल सतही ज्ञान प्राप्त करना नही बल्कि जीवन के सभी क्षेत्रों में आगे बढना है। उन्होंने कहा कि सीपीयू में कॅरिकुलम नई शिक्षा नीति के अनुसार सही लर्निंग पर फोकस है।
एक्सिलेंस इन एजुकेशन पर फोकस

Mr Pramod Maheshwari, VC

कुलपति प्रमोद माहेश्वरी ने कहा कि यूनिवर्सिटी में एक्सिलेंस इन एजुकेशन पर विशेष ध्यान दिया जाता है। उन्होने देश में नई शिक्षा नीति की सराहना करते हुए कहा कि जो बदलाव शिक्षा नीति मे किए गए है वो दुनिया की श्रेष्ठ यूनिवर्सिटी पहले से ही अपना रही है और कॅरियर पॉइंट यूनिवर्सिटी मे वह शुरू से ही लागू किए किए गए है। उन्होने बताया की जल्द ही हम विद्यार्थियों को एक साथ दो कोर्स भी ऑफर करने वाले हैं जिसके लिए तैयारियां शुरू की जा चुकी हैं।
उन्होने पिछले 10 वर्षो की शैक्षणिक उपलब्धियों के बारे मे बताया कि हम विद्यार्थियों को सिर्फ किताबी शिक्षा न देकर उनके लाइफ स्किल्स को भी विकसित कर रहे हैं। इसी का नतीजा है कि आज हमारे स्टूडेंट्स दुनिया की कई बड़ी कंपनियों के साथ काम कर रहे हैं।


उन्होंने कहा कि इंडस्ट्री में हर रोज नए-नए बदलाव हो रहे हैं, जिसके लिए अपने आपको अपडेट रखना जरूरी है। एक स्टूडेंट के लिए जितना जरूरी किताबें पढ़ना है उतना ही जरूरी इंडस्ट्री पर नजर रखना भी है।
स्थापना समारोह में विश्वविद्यालय के स्टाफ सदस्यों द्वारा विभिन्न नृत्य, गायन, फनगेम एवं नुक्क्ड़ नाटक सहित कई गतिविधियां आयोजित की गई। अंत में अकादमिक कॉर्डिनेटर कमलअरोड़ा ने सभी अतिथियों एवं सदस्यों का आभार जताया।

(Visited 44 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में पशुपालकों के लिये बना हाईटेक कस्बा, 22 मई को होगा गृहप्रवेश

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की पहल पर यूआईटी द्वारा 300 करोड की लागत से 150 …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: