Sunday, 21 July, 2024

अंगदान को जनांदोलन बनाया जाये- ओम बिरला

न्यूजवेव @ कोटा
लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने राष्ट्रीय अंगदान दिवस पर दधीचि देहदान समिति की वर्चुअल वेबिनार को संबोधित किया। उन्होंने मानवीय सेवा की प्रतिमूर्ति आचार्य रूपचंद महाराज की राष्ट्र और मानव सेवा को अनमोल बताते हुये कहा कि वे देहदान के माध्यम से लोगों को नई जिंदगी देने का काम कर रहे हैं। अंगदान महादान है,ं इसे जनआंदोलन बनाने की आवश्यकता है।


लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि सभी को यह विचार करें कि अंगदान को किस प्रकार से प्रोत्साहन दिया जा सकता है। यह संस्था पिछले 23 वर्षों से इस पुनीत कार्य में जनता को प्रेरित कर रही है तथा देहदान के प्रति समाज में स्वीकार्यता बढ़ाने के लिए तथा देहदान करने वालों व अस्पतालों के बीच सुविधाजनक संपर्क बढ़ाने के लिए भी कार्य कर रही है।
बिरला ने कहा कि जनमानस में आज भी कई भ्रांतियां हैं तथा लोगों की अंगदान के प्रति जागरूकता कम है। जानकारी के अभाव में कई इच्छुक व्यक्ति भी देहदान नहीं कर पाते। उन्होंने इस विषय पर जनजागृति के लिए संस्था एवं आयोजकों का धन्यवाद किया। बिरला ने कहा कि आज की नई तकनीक के आधार पर अब अंगों के साथ टिश्यू भी दान किए जा सकते हैं और इसके प्रति जागरूकता बढ़ाने का कार्य भी संस्था ने किया है। उन्होंने कहा कि चिकित्सा विज्ञान से जुड़े शोध में देहदान का अमूल्य योगदान है।
बिरला ने कहा कि उचित जानकारी के अभाव में आज भी देश में अंगदान करने वालों की संख्या बहुत कम है और आज भी बड़ी संख्या में जरूरतमंद लोग अंगदान के लिए प्रतीक्षा करते हैं। इस उपलक्ष्य पर उन्होंने जोर देकर कहा कि अंगदान के लिए प्रेरित करना सभी को अपना कर्तव्य समझना चाहिए क्योंकि दान हमारी संस्कृति का महत्वपूर्ण भाग है। उन्होंने आशा व्यक्त की कि संस्था के सहयोग से आगे भी कई लोगों को स्वस्थ एवं लंबा जीवन प्राप्त होगा।
इस अवसर पर दधिचि देह दन समिति के कार्याध्यक्ष आलोक कुमार एवं दधिचि देहदान समिति के अध्यक्ष हर्ष मल्होत्रा ने अधिक से अधिक लोगों को देहदान के लिए संकल्पित होने का आह्वान किया। समिति के पदाधिकारियों ने लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला का आभार जताया।

(Visited 151 times, 1 visits today)

Check Also

भक्तों को असमय कष्टों से मुक्त कर देतें हैं श्रीकृष्ण- अचार्य त्रिवेदी

कोटा में श्रीमद भागवत कथा के चौथे सोपान में हुई अमृत वर्षा न्यूजवेव @कोटा  विनोबाभावे …

error: Content is protected !!