Saturday, 15 May, 2021

भारत ने बनाया बाघ सर्वेक्षण का नया ‘गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड’

भारत में दुनिया के 75 प्रतिशत बाघ, कुल संख्या 2,967 तक पहुंची
न्यूजवेव@ नईदिल्ली
भारत ने बाघों की गणना के लिये दुनिया का सबसे बड़ा ‘कैमरा ट्रैप वन्यजीव सर्वेक्षण’ पूरा कर गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर ने ट्वीट में कहा कि यह आत्मनिर्भर भारत का जीता जागता उदाहरण है, जिसे प्रधानमंत्री के संकल्प से सिद्धि के माध्यम से प्राप्त किया गया है।
पर्यावरण मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में भारत ने लक्ष्य से 4 वर्ष पहले बाघों की संख्या दोगुनी करने वाले संकल्प को पूरा कर लिया है। नई गणना के अनुसार, देश में बाधों की अनुमानित संख्या 2,967 है। दुनिया के लगभग 75 फीसदी बाघ भारत में हैं। भारत द्वारा 2010 में सेंट पीटर्सबर्ग में बाघों की संख्या दोगुनी करने वाले संकल्प को निर्धारित लक्ष्य वर्ष 2022 से पहले ही प्राप्त कर लिया है।

कैमरा ट्रैप ने वन्यजीवों की 3.48 करोड़ तस्वीरों को खींचा


गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड ने प्रशस्ति पत्र में लिखा कि 2018-19 में किए गए सर्वेक्षण की चौथी पुनरावृत्ति- संसाधन और डेटा दोनों के हिसाब से अब तक का सबसे व्यापक रहा है। कैमरा ट्रैप (मोशन सेंसर्स के साथ लगे हुए बाहरी फोटोग्राफिक उपकरण, जो किसी भी जानवर के गुजरने पर रिकॉर्डिंग शुरू कर देते हैं) को 141 विभिन्न साइटों में 26,838 स्थानों पर रखा गया था और 1,21,337 वर्ग किलोमीटर (46,848 वर्ग मील) के प्रभावी क्षेत्र का सर्वेक्षण किया गया। कुल मिलाकर, कैमरा ट्रैप ने वन्यजीवों की 3,48,58,623 तस्वीरों को खींचा ( जिनमें 76,651 बाघों के, 51,777 तेंदुए केय शेष अन्य जीव-जंतुओं के थे)। इन तस्वीरों के माध्यम से, 2,461 बाघों (शावकों को छोड़कर) की पहचान स्ट्राइप-पैटर्न-रिकॉग्नाइज सॉफ्टवेयर का उपयोग करके की गई।


अभूतपूर्व रूप से कैमरा ट्रैप का उपयोग करने के साथ-साथ, 2018 ‘‘स्टेटस ऑफ टाइगर्स इन इंडिया‘‘ का मूल्यांकन व्यापक फुट सर्वेक्षण के माध्यम से भी किया गया, जिसमें 522,996 किमी (324,975 मील) का सफर तय किया गया और वनस्पति और खाद्य गोबर वाले 317,958 निवास स्थलों को शामिल किया गया। यह अनुमान लगाया गया कि अध्ययन किए गए वन का कुल क्षेत्रफल 381,200 वर्ग किमी (147,181 वर्ग मील) था और कुल मिलाकर 620,795 श्रम-दिवस आंकड़ों का संग्रह और समीक्षा करने में लगाया गया।”


राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के नवीनतम आंकडों के अनुसार, भारत में बाघों की कुल अनुमानित संख्या 2,967 है, जिनमें से 2,461 बाघों को व्यक्तिगत रूप से कैप्चर किया गया है, जो बाघों की संख्या का 83ः है और सर्वेक्षण की व्यापकता की प्रकृति को रेखांकित करता है।

(Visited 125 times, 1 visits today)

Check Also

 कोरोना से मौत होने पर पत्रकारों के परिवार को मिलेगी 15 लाख रुपये की सहायता

उडीसा में कामकाजी पत्रकार फ्रंटलाइन कोविड वारियर्स घोषित न्यूजवेव @ भुवनेश्वर मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: