Monday, 30 March, 2020

सर्दी से राहत, बेसहारा गरीबों के लिये रेन बसेरा शुरू

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर कोटा ग्रेन एण्ड सीड्स मर्चेन्ट एसोसियेशन के सहयोग से आधुनिक रैन बसेरा शुरू

न्यूजवेव@ कोटा

कड़कड़ाती सर्दी में खुले में रहकर अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहे लोगों को सोमवार को बड़ी राहत मिली। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला की पहल पर कोटा ग्रेन एण्ड सीड्स मर्चेन्ट एसोसियेशन के सहयोग से प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी घोड़े वाला बाबा चैराहे पर मुख्य मार्ग पर आधुनिक रैन बसेरा प्रारंभ किया गया। रैन बसेरे में उपलब्ध सुविधाओं को देख इसमें रहने आए लोगों के चेहरे खिल गए। पहले ही दिन रैन बसेरा पूरी तरह भर गया।

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला,विधायक संदीप शर्मा, पूर्व उपमहापौर सुनिता व्यास कोटा ग्रेन मर्चेंन्ट एसोसियेशन के अध्यक्ष अविनाश राठी, महामंत्री महेन्द्र जैन सहित एसोसियेशन के पदाधिकारियों ने रैन बसेरे का फीता काटकर विधिवत् रूप से शुभारंभ किया। रैन बसेरे रात को सर्दी से बचाव के लिए एवं दिन के समय इसमें घोड़ा कच्ची बस्ती एवं आस-पास की कच्ची बस्ती के बच्चो के लिए स्कूल संचालित किया जाता है।


सीएडी रोड पर आधुनिक रैन बसेरे का उद्घाटन करते हुए लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि इस कड़कड़ाती सर्दी में जब हम अपने कमरों में गर्म रजाई में दुबके रहते हैं, ठीक उसी समय कोई व्यक्ति सड़क पर खुले में रहते हुए अपने जीवन के लिए संघर्ष कर रहा होता है। यह समाज के हर सक्षम व्यक्ति का नैतिक दायित्व है कि वह इन अभावग्रस्त लोगों की मदद के लिए आगे आए। आज इस छोटे से प्रयास से इनको जो खुशी मिली है, वही सच्ची खुशी है। लोकसभा अध्यक्ष बिरला ने कहा कि सरकार के द्वारा अपने स्तर पर आमजन को मूलभूत सुविधाऐं उपलब्ध करवाई जाती है लेकिन समाज के भामाशाहों की जिम्मेदारी है कि वह भी समाज के पिछडे व कमजोर तबके की मदद के लिऐ आगे आऐ।लोकसभा अध्यक्ष ने कुपोषण मुक्त कोटा संकल्प अभियान को दोहराते हुये कहा कि नए वर्ष की शुरूआत से जनसहयोग से एक हजार गर्भवती महिलाओं का चयन कर उन्हें 9 माह तक पोष्टिक भोजन एवं मेडिकल चेकअप करवाया जायेगा ताकि उनसे होने वाली संतान कुपोषित नही हो।
कोटा दक्षिण विधायक संदीप शर्मा ने कहा कि ग्रेन मर्चेन्ट एसोसियेशन द्वारा लगातार सेवा कार्य किये जाते रहे है जो अब सर्द रातो मेंं राहत के लिये रैन बसेरे की स्थापना कर एक उदारण पेश किया है। राजनिती के मूल में सेवा का भाव होता है। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला राजनितिक क्षेत्र में काम करने के साथ सामाजिक सरोकार से जुडे कार्य भी करते रहते है। भूखे को रोटी, वस्त्रहीन को वस्त्र, जरूरतमंद को उपचार दिलवाने के साथ ही हर जरूरतमंद की आवश्यकता पूर्ण हो इस तरह का प्रयास रहना चाहिये। विधायक ने कहा कि पिछडे एवं निर्धन तबके के लोगो की मदद के लिये सक्षम तबके को सेवा का भाव रखकर सेवा कार्यो में जुटना होगा तभी हम समाज में बेहतर परिवर्तन कर पायेगे।
कोटा ग्रेन मर्चेंन्ट एसोसियेशन अध्यक्ष अविनाश राठी ने कहा कि एसोसियेशन द्वारा पिछले 70 वर्षो से जरूरतमंद लोगो की मदद का सिलसिला लगातार जारी है। इस वर्ष भी रैन बसेरे के माध्यम से लोगो को सर्द रातो ठंड से बचाने का प्रयास है। एसोसियेशन के द्वारा अकाल, बाढ राहत सहित सेवा के हर कार्यो में समय-समय पर अपना योगदान देते है ओर सेवा के इस कार्य को आगे बढ़ाते रहेगें। अंत में भामाशाह मंडी के महामंत्री महेन्द्र जैन ने धन्यवाद ज्ञापित किया। संचालन एसोसिशन के सुशील गंभीर ने किया। कोटा ग्रेन एण्ड सीड्स एसोसियेशन के कार्यक्रम संयोजक जगदीश चित्तौड़ा, कार्यक्रम में कोटा ग्रेन एण्ड सीड्स मर्चेन्ट एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष विशाल गर्ग, उपाध्यक्ष पदम जैन,कोषाध्यक्ष महेश खण्डेलवाल, जीएमए प्लाजा अध्यक्ष राकेश जैन, महामंत्री रमेश आहूजा, जिला मंत्री कैलाश गौतम,पूर्व पार्षद एवं भाजपा पदाधिकारीयों सहित बडी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता एवं मंडी समिति के व्यापारी उपस्थित थे।

स्कूली बच्चो को मिली जर्सिया व स्टेशनरी किट
भामाशाह मंडी एसोसियेशन के सहयोग से संचालित आधुनिक रैन बसेरे में रात को सर्दी से बचाव के लिए एवं दिन के समय इसमें घोड़ा कच्ची बस्ती एवं आस-पास की कच्ची बस्ती के बच्चो के लिए स्कूल संचालित किया जाता है। ऐसे मे रेन बसेरे के उद्धाटन के समय एसोसियेशन कि ओर से स्कूल में पढने आने वाले बच्चो को जर्सिया एवं स्टेशनरी किट लोकसभा अध्यक्ष बिरला एवं विधायक शर्मा द्वारा दिए गये।

साफ चादर, नई रजाइयां देख खिले चेहरे
रैन बसेरे में रात बिताने आए लोग यहां उपलब्ध करवाई गईं सुविधाओं को देख खुश हो गए। चारों तरफ से बंद रैनबसेरे में अच्छे पलंग, साफ चादर और नई रजाइयां देख उनके चेहरे खिल गए। अपनी खुशी का इजहार करते हुए उन्होंने कहा कि इस कड़ाके की सर्दी में खुले में रहना जान को जोखिम में डालने के समान है। लेकिन सक्षम नहीं होने के कारण वे अपना बचाव भी नहीं कर सकते थे। सांसद बिरला के इस प्रयास ने उनकी जान को बचाने का काम किया है।

(Visited 46 times, 1 visits today)

Check Also

जन्म-मृत्यु की इस लड़ाई मे हमें जीतना हैै- मोदी

‘मन की बात 2.0’ की 10वीं कड़ी में प्रधानमंत्री ने लॉक डाउन का सख्ती से …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: