Saturday, 6 June, 2020

MHRD की ऑनलाइन डिजिटल एजुकेशन में तीन गुना वृद्धि

लॉकडाउन के दौरान लाखों विद्यार्थी ऑनलाइन एजुकेशन प्रोग्राम पर कर रहे हैं एक्सेस
न्यूजवेव@ नईदिल्ली
मानव संसाधन विकास मंत्रालय (MHRD) की ऑनलाइन डिजिटल एजुकेशन देश के लाखों विद्यार्थियों के बीच तेजी से लोकप्रिय हो रही है। लॉकडाउन की अवधि में विद्यार्थी घरों में बैठे-बैठे अपनी पढ़ाई जारी रख सकें, इसके लिये MHRD ने उन्हें लर्निंग के लिये अलग-अलग ऑनलाइन प्लेटफार्म उपलब्ध करवा दिये हैं। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान पिछले 7 दिनों में नेशनल ऑनलाइन शिक्षा प्लेटफॉर्म की पहुंच में तीन गुना वृद्धि हुई है। विद्यार्थियों में इसकी सकारात्मक प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है।

पोखरियाल ने कहा कि उच्च शिक्षा में बेहतरीन शिक्षा संसाधनों तक निशुल्क पहुंच के प्रावधान करना विद्यार्थियों के लिये वरदान साबित हो रहा है। उनकी एक्सेस दर में आश्चर्यजनक वृद्धि देखी गई है। इससे पहले विद्यार्थियों को विभिन्न कोर्सेस के लिये पंजीकरण कराना आवश्यक था। लेकिन अब लॉक डाउन अवधि में ऑनलाइन एजुकेशन को बढ़ावा देने के लिए विद्यार्थी बिना किसी पंजीकरण के निशुल्क देख सकते हैं।
25.5 लाख विद्यार्थियों ने ऑनलाइन में रूचि ली
23 से 27 मार्च तक लगभग 50,000 विद्यार्थियों ने स्वयं एक्सेस कर इसमें रूचि दिखाई है। यह संख्या जनवरी,2020 सेमेस्टर के 571 कोर्सेस में पहले ही नामांकित 25 लाख विद्यार्थियों के अतिरिक्त है। उच्च शिक्षा में ‘स्वयं’ (SWAYAM) पहल में 1900 प्रोग्राम हैं, जिन्हें 60 से ज्यादा देशों के स्टूडेंट्स द्वारा एक्सेस किया जा रहा है। इनमें भारत के अलावा अमेरिका, संयुक्त अरब अमीरात, जर्मनी, नेपाल, सिंगापुर, कनाडा, ब्रिटेन और ऑस्ट्रेलिया के स्टूडेंट्स भी शामिल है। ‘स्वयं प्रभा’ प्रोग्राम के विडियो DTH टीवी चैनलों के जरिये रोजना 50,000 से अधिक विद्यार्थियों द्वारा देखा जा रहा है। नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी को 43,000 विद्यार्थी एक्सेस कर रहे हैं।
NCERT के दीक्षा, ई-पाठशाला, NROER और NIOS जैसे एजुकेशन पोर्टल तथा रोबोटिक एजुकेशन (ई-यंत्र), ओपन सोर्स सॉफ्टवेयर फॉर एजुकेशन (FOSSEE), वर्चुअल एक्सपेरिमेंट्स (वर्चुअल लैब्स) जैसी विभिन्न आईसीटी पहलें तथा लर्निंग प्रोग्रामिंग (स्पोकन ट्यूटोरिल) को लाखों विद्यार्थियों द्वारा एक्सेस किया जा रहा है। केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने विद्यार्थियों से अपील की कि वे लॉक डाउन के दौरान डिजिटल एजुकेशन से खुद को जोड़कर खाली समय को बेहतर उपयोग कर सकते हैं। ऑनलाइन लर्निंग से ही भविष्य की उच्च शिक्षा जुडी है, इसलिये घर बैठे खुद को नॉलेज में समृद्ध बनायें।

(Visited 94 times, 1 visits today)

Check Also

Vedantu launches V Quiz for learners  

LIVE Host quiz show that can be played from the comfort of one’s home Winners …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: