Tuesday, 20 October, 2020

चार्टर्ड अकाउंटेंट का देश को आगे बढ़ाने में अहम रोल – अनुराग ठाकुर

कोटा सीए ब्रांच की तीन दिवसीय नेशनल टैक्स कॉन्फ्रेंस का शुभारंभ
न्यूजवेव @
कोटा
कोटा सीए ब्रांच एवं प्रोफेशनल डवलपमेंट कमेटी के संयुक्त तत्वावधान में बुधवार को तीन दिवसीय वर्चुअल नेशनल टैक्स कॉन्फ्रेंस का शुभारंभ केंद्रीय वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर व आईसीएआई के नेशनल प्रेसीडेंट सीए अतुल कुमार गुप्ता ने किया।
कोटा सीए ब्रांच की चेयरपर्सन सीए रजनी मित्तल व कॉन्फ्रेंस सचिव सीए सिद्धार्थ मित्तल ने बताया कि कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि पीडीसी के चेयरमैन सीए श्रीनिवास वाई जोशी, पीडीसी के वाइस चेयरमैन सीए प्रकाश शर्मा रहे।
केंद्रीय वित्त राज्यमंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि चार्टर्ड अकाउंटेंट का रोल देश के विकास के साथ देश को आगे बढ़ाने में अहम रोल अदा करते हैं। चार्टर्ड अकाउंटेंट को पार्टनर इन नेशन बिल्डिंग कहा जाता है। सीए का रोल करदाता एवं सरकार के मध्य एक ब्रिज के रूप में है। चार्टर्ड अकाउंटेंट कोई भी फीडबैक देते हैं उसको सरकार सकारात्मक रूप में लेती है। उन्होंने कहा कि फेसलेस असेसमेंट एवं फेसलेस अपील सफल साबित हो, जिससे देश के लाखों करदाताओं को फायदा होगा इसमें चार्टर्ड अकाउंटेंट का सहयोग अपेक्षित है।
करदाता के लिए करेंगे सुविधा केंद्र शुरू
आईसीएआई के नेशनल प्रेसीडेंट सीए अतुल कुमार गुप्ता ने कहा कि आईसीएआई के भारत के अलावा करीब 42 देशों में कार्यालय कार्यरत है। उन्होंने कहा कि आईसीएआई सरकार के साथ मिलकर प्रमुख स्थानों पर सुविधा केंद्र शुरू करना चाहती है, जिसमें जीएसटी या फिर इनकम टैक्स से संबंधित करदाता समेत आमजन को निशुल्क सलाह दी जाएगी। इसके अलावा आईसीएआई ने कोविड-19 से पीड़ित चार्टर्ड अकाउंटेंट को डेढ़ लाख रुपए की आर्थिक मदद की है।
कोविड़-19 के बाद इकोनॉमी की स्थिति बदली
कॉन्फ्रेंस के प्रथम तकनीकी सत्र में नई दिल्ली के सीए सी.जे.एस.नंदा ने सीए सदस्यों के लिए सीए सदस्यों के लिए अपॉच्र्युनिटी विषय पर कहा कि कोविड़-19 वैश्विक महामारी के कारण इकोनॉमी की स्थिति काफी हद तक बदल गई है। इस कारण युवा चार्टर्ड अकाउंटेंट जीएसटी, इनकम टैक्स व ऑडिट के अलावा स्पेशल इकोनॉमिक जोन, पीएमएलए, इंटरनेशनल टेक्सेशन, वेल्युवेशन व टेक्नोलॉजी से संबंधित क्षेत्र में अपना श्रेष्ठ कॅरियर बना सकते है।
जीएसटी कानून के बाद ब्लैक मार्केट पर लगी रोक कॉन्फ्रेंस के दूसरे सत्र में इन डायरेक्ट टैक्स कमेटी के चेयरमैन चेन्नई के सीए राजेंद्र कुमार पी. ने कहा कि जीएसटी कानून में कर विशेषज्ञों को कोई परेशानी नहीं है। यह कानून भारत ही नहीं अपितु करीब 150 देशों में ऐसा ही कानून है, जो इस कानून की बारीकियों को समझ लेगा वह 150 देशों में कार्य कर सकता है। जीएसटी आने के बाद ब्लैक मार्केट पर काफी हद तक रोक लगी है। जीएसटी से पूर्व सरकार को टैक्स नहीं पहुंचता था, लेकिन 2017 में जीएसटी आने के बाद सरकार के पास टैक्स पहुंचने के साथ ही कर की चोरी पर काफी हद तक रोक लगी है। जैसे-जैसे जीएसटी कानून में फेरबदल आएंगे उसी प्रकार देश में एकजुटता बढ़ेगी। इस कानून में कम्प्यूटर लिंकिंग के कारण करदाताओं व प्रोफेशनल वर्ग को परेशानी होती है। इसलिए सरकार को चाहिए कि वह ट्रेड एसोसिएशन, आईसीएआई एवं चैम्बर ऑफ कॉमर्स के साथ मिलकर जागरुकता बढ़ाने पर ध्यान देें।
कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि सीआईआरसी उदयपुर के चेयरमैन सीए देवेंद्र सोमानी, सीआईआरसी जयपुर के सचिव सीए दिनेश कुमार जैन, कॉन्फ्रेंस समन्वयक सीए आशीष व्यास, कोटा ब्रांच के सचिव सीए देवेंद्र कटारिया, प्रथम सत्र के एक्सपर्ट सीए प्रीतम गोस्वामी, सीए अखिलेश राठी, सीए योगेश चांडक, सेशन चेयरमैन सीए निलेश गुप्ता, सीए लोकेश माहेश्वरी आदि मौजूद रहे।
(Visited 13 times, 1 visits today)

Check Also

पश्चिम के प्रकृति विरोधी सिद्धांत हम नही अपनाएं- डॉ भागवत

– भारतीय किसान संघ के कार्यक्रम में बोले भागवत – श्रद्धेय दन्तोपंत ठेंगड़ी जन्मशताब्दी समापन …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: