Thursday, 25 April, 2024

सफलता के लिए अपनी कहानी खुद लिखें

आईएसटीडी कोटा चेप्टर द्वारा ट्रेनर्स डे श्रंखला में ’जिन्दगी को रोज करो रिचार्ज’ पर प्रेरक सेमीना

न्यूजवेव@ कोटा
‘हमे मनचाही मंजिल पानी है तो अपनी कहानी खुद लिखनी होगी। इसके लिए हमे जिन्दगी को रोज रिचार्ज करना होगा। जीवन को सफल बनाने हेतु पाॅजिटिव नजरिया रखें।’

यह बात मुख्य वक्ता राष्ट्रपति अवार्ड से सम्मानित शिक्षक व पर्यावरण परिषद की अध्यक्ष श्रीमती गीता दाधीच गीता दाधीव ने कही। वे आईएसटीडी कोटा चेप्टर एवं ओम कोठारी संस्थान द्वारा टीचर टेªनिंग इंस्टीट्यूट मे ’जिन्दगी को करो रिचार्ज’ पर सेमीनार में बोल रही थी।

सफलता के लिए सकारात्मक होना जरूरी है। हम सही मौके को पहचान कर अपना पक्ष मजबूत करो। कमजोरियो का विश्लेषण कर काबलियत के अनुसार सही समय पर काम करें। इससे सफलता का मार्ग खुलेगा। उन्होने कहा कि बडी खुशियो के लिए छोटी खुशियो को जिन्दगी से न जाने दे।

ISTD motivational seminar

छोटी-छोटी खुशियां तनाव को समाप्त कर जिन्दगी को रिचार्ज करती है और इंसान को चुनौतियों का सामना करने में सक्षम बनाती है। उन्हेाने मुस्कुुराकर जिन्दगी जीने की कोशिश करने के लिए कहा।

उन्होने कहा छोटी सी मुस्कुराहट बडी- बडी़ परेशानियों का चुटकियो में समाधान कर देती है। इंसान को अपने मूल्यो को समझकर स्वयं से प्यार करना चाहिऐ। स्वयं से प्यार करने से जीवन के मजबूत पक्ष उजागर होते है। यही जीवन की सच्ची सफलता है। जीवन मे पैसा या पद कहानी का अन्तिम पडाव नही है अपितु अच्छा स्वास्थ्य व मजबूत रिश्ते मिलकर ही जीवन की हैप्पी एंडिग बनाते है।

उन्होने ‘हर घडी बदल रही है धूप, जिन्दगी..’ गाने से जिन्दगी में होने वाले परिवर्तन से उबर कर खुशहाल जिन्दगी जीने की नसीहत दी। हर विद्यार्थी अपने बारे में सोचना शुरू कर आज को बेहतर बनाने की कोशिश करे।

सेमीनार में आईएसटीडी. कोटा चेप्टर की चेयरपर्सन सुश्री अनिता चैहान, सदस्य ओम कोठारी महाविद्यालय के निदेशक डाॅ अमित सिंह राठौड, प्राचार्या डाॅ स्नेहलता धर्मावत, लेक्चरर एवं स्टूडेंट्स उपस्थित रहे। संचालन लेक्चरर श्यामसुन्दर विजय ने किया।

(Visited 260 times, 1 visits today)

Check Also

आपका एक-एक वोट देश को मजबूत करेगा – अमित शाह

न्यूजवेव @कोटा कोटा-बूंदी सीट पर चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में शनिवार को भाजपा के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!