Sunday, 16 June, 2024

कोटा की खस्ताहाल सड़कों पर रोजाना हो रही मौतें – संदीप शर्मा

भाजपा विधायक शर्मा ने विधानसभा में उठाया कोटा की टूटी सड़कों का मामला
न्यूजवेव @ कोटा
कोटा दक्षिण के भाजपा विधायक संदीप शर्मा ने शहर की खस्ताहाल सड़कों से हो रही मौतों का मामला नियम 295 विशेष के जरिये विधानसभा में उठाया। उन्होंने रोज हो रही सड़क दुर्घटनाओं पर राज्य सरकार का ध्यान आकर्षित करते हुये कहा कि शहर में सौन्दर्यकरण के साथ सुदृढ़ीकरण की भी जरूरत है ताकि आम नागरिकों को परेशानी नही हो।
विधायक ने कहा कि शिक्षा नगरी होने से सम्पूर्ण देश के हजारों विद्यार्थी यहां अध्ययन करने आते है, बरसात के बाद समूचे कोटा शहर के सभी वार्डों में सड़कों का बुरा हाल है। सीवरेज लाइनों के कारण लंबे समय से जगह-जगह सड़कें खुदी हुई है। उनकी कोई मरम्मत तक नहीं की गई है। डामर सडकें उखड जाने से मोटी गिट्टी व मिट्टी पड़ी हुई है और बड़े-बड़े गड्ढों से लोग हादसों का शिकार हो रहे है।
सडक हादसों में 50 मौतें
शहर में इन टूटी सड़कों पर दिनभर धूल के गुबार उड़ते रहते हैं, जिससे सांस की बीमारियां बढ रही हैं। गड्डोें के कारण वाहन भी क्षतिग्रस्त हो रहे हैं। कोटा में विकास कार्यो के चलतें लगभग 50 लोगों की मौतें हो चुकी हैं। हजारों लोग घायल होकर इलाज करवा रहे है। सैकड़ों वाहन चालक सड़कों पर गिर कर हाथ-पैर तुडवा चुके हैं। इन दिनों समूचा कोटा सड़क हादसों का शहर बन गया है।
आरयूआईडीपी द्वारा पूरे शहर में एक साथ सीवरेज पाइप लाइन डालने का कार्य कछुआ चाल से चल रहा है। विभाग के अधिकारियों व संवेदकों द्वारा शहर की मुख्य सड़कों व गली मोहल्लों की सड़कों को खोदकर छोड़ दिया गया है, जिससे आमजनता बहुत परेशान है। कोटा में कई संगठनों व आम जनता द्वारा धरने व प्रदर्शन किए जा रहे हैं लेकिन अधिकारी आंखें मूंदकर बैठे हैं।
कोटा दक्षिण विधानसभा क्षेत्र के तलवंडी, विज्ञान नगर, गणेश तलाव, शिवपुरा, दादाबाड़ी, समतलाई, मुख्य मार्ग कैथूनीपोल क्षेत्र, दादाबाड़ी, बालाकुंड, वसंत विहार, संतोष नगर, संपूर्ण महावीर नगर एवं विस्तार, केशवपुरा शॉपिंग सेंटर, गुमानपुरा बाजार, श्रीनाथपुरम, आरकेपुरम, महावीर नगर, अनंतपुरा, जवाहर नगर आदि क्षेत्र की टूटी मुख्य सड़कों के पेचवर्क की बजाय शीघ्र निर्माण करवाने की सख्त आवश्यकता है। गत बजट सत्र में मुख्यमंत्री ने जिले में जिन सडकों की घोषणा की थी, वहां अभी तक कोई कार्य नहीं किये गये है। कुछ सडकों का निर्माण कर अधिकारियों व संवेदकों ने लीपा-पोती कर दी है। इनकी गुणवत्ता भी जांच का विषय है। विधायक ने सदन में मांग की कि कोटा की क्षतिग्रस्त सड़कों का निर्माण तत्काल करवाया जाए ताकि रोजाना हो रहे सड़क हादसों पर नियंत्रण हो सके और आने जाने वाले राहगीरों को अकारण मृत्यु का शिकार ना होना पड़े।

(Visited 144 times, 1 visits today)

Check Also

‘कामयाब कोटा’ अभियान में जिला कलक्टर ले रहे हैं क्लास

न्यूजवेव @कोटा जिला कलक्टर डॉ.रविंद्र गोस्वामी इन दिनों ‘कामयाब कोटा’ मिशन के तहत कोचिंग संस्थानों …

error: Content is protected !!