Sunday, 21 July, 2024

एडटेक कंपनी ‘लीड’ 3000 महात्मा गांधी सरकारी स्कूलों में पढ़ायेगी इंग्लिश

लीड’ (LEAD) ने राजस्थान सरकार के साथ किया एमओयू
न्यूजवेव @ जयपुर
भारत की सबसे बड़ी स्कूल एडटेक कंपनी ‘लीड’ (LEAD) ने राजस्थान में इंग्लिश मीडियम के महात्मा गांधी सरकारी स्कूलों में विद्यार्थियों को अंग्रेजी बोलने, लिखने और पढने के कौशल को विकसित करने के लिये राजस्थान सरकार के साथ करार किया है।


लीड के मुख्य कार्यकारी अधिकारी और सह-संस्थापक, सुमीत मेहता ने कहा, “बच्चे को विभिन्न विषयों की क्वालिटी एजुकेशन प्रदान करने के उद्देश्य से प्री-प्राइमरी स्कूल स्तर से ही बच्चों को अंग्रेजी में ग्रेड स्तर की दक्षता प्राप्त करने की शुरुआत की जायेगी।
मेहता ने कहा कि लीड अपने अनूठे अंग्रेजी भाषा प्रोग्राम को राजस्थान के सभी जिलों में 3000 से अधिक महात्मा गांधी सरकारी स्कूलों (MGGS) में लागू करेगा। इसके माध्यम से छात्र स्किल के रूप में इंग्लिश बोलना व लिखना सीखेंगे। इसके लिये राजस्थान के एमजीजीएस स्कूलों में लीड की अंग्रेजी भाषा लैब उपलब्ध होगी। इसके तहत कक्षाओं के लिए स्मार्ट टीवी, छात्रों के लिए क्यूआर-संवर्धित पुस्तकें और टीचर्स के लिये इंटीग्रेटेड टैबलेट शामिल हैं। छात्र उच्चारण, वॉक्यूबुलेरी, रीडिंग एवं राइटिंग स्किल और व्याकरण आदि सीखेंगे। इतना ही नहीं, एक वर्ष में 1.5 वर्ष के इंग्लिश स्किल डेवलपमेंट को कवर किया जाएगा।
प्रदेश के स्कूल शिक्षा विभाग के निदेशक IAS नवीन जैन ने कहा कि प्रदेश के ग्रामीण क्षेत्रों में, महात्मा गांधी सरकारी स्कूलों (MGGS) में पढ़ने वाले बच्चों को अब तक हिंदी से अंग्रेजी माध्यम में जाने पर कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा था। लेकिन, लीड द्वारा अंग्रेजी भाषा कार्यक्रम की कक्षाओं के बाद वे इस चुनौती का आसानी से सामना करने में सक्षम होंगे।
लीड का स्मार्ट स्कूल सिस्टम


लीड का अंग्रेजी भाषा कार्यक्रम 2.5 मिलियन से अधिक छात्रों को ग्रेड स्तर पर लाने की सीख के आधार पर विकसित किया गया है। लीड का इंटीग्रेटेड स्कूल एडटेक सिस्टम एनईपी 2020 के अनुरूप है और इसमें स्कूलों के सभी क्षेत्रों के लिए अनुकूलित, एआई-सक्षम पेशकश शामिल है। शिक्षा के प्रति लीड के समग्र दृष्टिकोण में प्रत्येक शिक्षक को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बेंचमार्क टूल और संसाधनों के साथ सशक्त बनाने के लिए शिक्षक क्षमता प्रणालीय पारंपरिक कक्षाओं को डिजिटल रूप से सक्षम, मल्टी-मॉडल अध्यापन-अध्ययन स्थानों में बदलने के लिए स्मार्ट क्लास समाधानय, छात्रों के सीखने और आत्मविश्वास को बढ़ावा देने के लिए एक एकीकृत पाठ्यक्रमय और प्रशासनिक कार्यों को सुव्यवस्थित करने, परिचालन दक्षता बढ़ाने और स्कूलों को कार्रवाई योग्य डेटा प्रदान करने के लिए स्मार्ट स्कूल सिस्टम शामिल हैं।
याद दिला दें कि जुलाई में, लीड ने भारत में कम शुल्क वाले स्कूल क्षेत्र में प्रवेश की घोषणा की है। लीड 2028 तक 60,000 स्कूलों में 25 मिलियन छात्रों को प्रेरक शिक्षा प्रदान करने के मिशन पर है।

(Visited 523 times, 1 visits today)

Check Also

हॉस्टल्स से यूडी टैक्स की वसूली आवासीय श्रेणी में हो

जयपुर में विधायक संदीप शर्मा के साथ यूडीएच मंत्री झाबर सिंह खर्रा से मिला प्रतिनिधिमंडल …

error: Content is protected !!