Wednesday, 25 May, 2022

लोकसभा अध्यक्ष त्रिपल आईटी कोटा का निर्माणाधीन कैम्पस देखने पहुंचे

रानपुर में 100 एकड़ क्षेत्रफल में 121 करोड़ की लागत से बन रहा है स्थायी कैम्पस, अगले सत्र से नये बैच की पढाई कोटा में 
न्यूजवेव @ कोटा

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला अपने संसदीय क्षेत्र कोटा-बूंदी के चार दिवसीय प्रवास पर शुक्रवार को कोटा पहुंचे। उन्होंने रानपुर में त्रिपल आईटी कोटा के निर्माणाधीन स्थायी कैम्पस का अवलोकन किया। बिरला ने ट्रिपल आईटी (IIIT Kota) के निर्माणाधीन भवन की कार्ययोजना का निरीक्षण किया। उन्होंने सीपीडब्ल्यूडी अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे कोटा में खुलने वाले प्रथम राष्ट्रीय शिक्षा संस्थान के निर्माण कार्यों को गुणवत्ता के साथ जल्द से जल्द पूरा करें जिससे अगले शैक्षणिक वर्ष से कोटा के स्थायी कैंपस में ही नए बैच की पढ़ाई प्रारंभ हो सके।


लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि संस्थान के परिसर में ही बाहर से प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों के लिए पढाई, खेलकूद, भोजन, आवास सहित रिसर्च संबंधी सभी सुविधाएं उपलब्ध कराई जाये। उन्होंने कहा कि अत्याधुनिक क्लासरूम व लेबोरेट्री के साथ खेल सुविधाओं का भी हो प्रावधान किया जाये।


गौरतलब है कि वर्ष 2013 से ही कोटा में कोई शैक्षणिक भवन नहीं होने के कारण त्रिपल आईटी कोटा का संचालन एमएनआईटी, जयपुर में किया जा रहा था। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने शिक्षा नगरी कोटा में नेशनल इंस्टीट्यूट जल्द शुरू करवाने के लिये केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय से 121 करोड़ की राशि स्वीकृत करवाई। सूत्रों ने बताया कि झालावाड रोड पर रानपुर में 100 एकड़ क्षेत्रफल में कुल 121 करोड़ की लागत से कोटा ट्रिपल आईटी के स्थायी कैम्पस का निर्माण तेजी से चल रहा है। परिसर के सभी शैक्षणिक और प्रशासनिक भवन पूर्णतया वातानाकूलित होंगे।
850 छात्रों की क्षमता वाले 4 मल्टीस्टोरी हॉस्टल


त्रिपल आईटी कोटा में 850 छात्रों की क्षमता वाले 4 मल्टीस्टोरी हॉस्टल बनाये जायेंगे। इनमें 700 छात्रों और 150 छात्राओं के रहने व भोजन की सम्पूर्ण सुविधायें उपलब्ध करवाई जायेगी। परिसर में ही त्रिपल आईटी के निदेशक का आवास तथा स्टाफ क्वार्टर भी बनाये जायेंगे।
सीपीडब्ल्यूडी (CPWD)अधिकारियों ने लोकसभा अध्यक्ष को बताया कि सभी भवन 3 स्टार ग्रिहा डिजाइन में होंगे। साथ ही ये सारे भवन भूकम्परोधी होंगे। त्रिपलआईटी कैम्पस के भवनों में राजस्थानी वास्तुशिल्प और आधुनिकता का समावेश किया जायेगा। परिसर को हराभरा कैम्पस रखने के लिये विशाल बगीचा, 5000 पौधों का वृक्षारोपण किया जायेगा। स्टूडेंट्स के लिये अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त इनडोर व आउटडोर गेम्स के लिये खेल प्रांगण बनाया जायेगा।

(Visited 78 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में पशुपालकों के लिये बना हाईटेक कस्बा, 22 मई को होगा गृहप्रवेश

यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की पहल पर यूआईटी द्वारा 300 करोड की लागत से 150 …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: