Thursday, 25 April, 2024

देश के सर्वश्रेष्ठ 30 स्टार्टअप मेें राजस्थान से मेडकॉर्ड्स का चयन

स्टार्टअप के सबसे बडे़ प्लेटफॉर्म योर स्टोरी के 9वें टेक स्पार्क में मिला ‘टेक-30’ सम्मान

न्यूजवेव बैंगलुरू/कोटा

आंत्रप्रिन्योर के सबसे बडे़ प्लेटफॉर्म ‘योर स्टोरी’ के 9वें टेक स्पार्क इवेंट में देश के 3000 स्टार्टअप में से शीर्ष 30 टेक्नोलॉजी स्टार्टअप चुने गए हैं, जिसमें राजस्थान से कोटा के मेडकॉर्ड्स हैल्थकेअर को शामिल किया गया। राजस्थान से इकलौते स्टार्टअप को राष्ट्रीय स्तर पर यह सम्मान मिला है।

बैंगलुरू में एक भव्य समारोह में विभिन्न क्षेत्रों हैल्थकेअर, टेक्नोलॉजी, फाइनेंस, कन्जूमर इंटरनेट, सोशल, मार्केटिंग एवं रिएल स्टेट में अनूठे नवाचार करने वाले युवाओं को सम्मानित किया गया। समारोह में देश के प्रमुख उद्यमी, निवेशक एवं आंत्रप्रिन्योर शामिल हुए।

कोटा के युवा इंजीनियर्स श्रेयांस मेहता, निखिल बाहेती एवं तेलंगाना से साइदा धनावत द्वारा पहली बार ग्रामीण क्षेत्र में शुरू किए गए स्टार्टअप ‘मेडकॉर्ड्स हेल्थकेअर’ को 30 उच्च तकनीकी दक्षता वाले स्टार्टअप में चुना गया है। राष्ट्रीय स्तर पर 30 सर्वश्रेष्ठ एवं उपयोगी स्टार्टअप का चयन अनुभवी आन्त्रप्रिन्योर जूरी सदस्यों ने किया है। उन्होंने प्रत्येक स्टार्टअप को टेक्नोलॉजी के प्रभाव, टीम, स्वीकार्यता, मार्केट एवं आर्थिक स्थिति जैसे कई मापदंडो पर परखा।

योर स्टोरी की सीईओ श्रद्धा शर्मा ने बताया कि देश के 3 हजार युवा आंत्रप्रिन्योर टेलेंट्स ने टेक-30 के लिए आवेदन किया था। जिसमें से उन सर्वश्रेष्ठ 30 स्टार्टअप को ‘दुनिया में सबसे तेज बढ़ती इकोनॉमी के विजेता’ के रूप में चयनित किया गया है जो कॉर्पोरेट वर्ल्ड, स्टार्टअप इको सिस्टम, पालिसी मेकर्स, एवं निवेशकों का ध्यान आकर्षित कर रहे हैं। ये चयनित स्टार्टअप नेक्स्ट जनरेशन के लिए अनुकूल माने गए हैं।

तेजी से उभरती टेक्नोलॉजी में रोबोटिक्स, आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस, सेल्फ ड्राइविंग, क्लीन टेक, वर्चुअल रिएलिटी, बिग डाटा, क्लाउड कम्यूटिंग एवं एनालिटिक्स के आधार पर किए जा रहे स्टार्टअप लाखों लोगों तक अपनी पहुंच बढ़ा रहे हैं।

ये हैं सर्वश्रेष्ठ टेक-30 स्टार्टअप

टेक-30 में ड्राइवर रहित कार, पर्सनल एफएम, ऑटोमेटिक पालना, स्वतः कचरा अलग करने की मशीन जैसे कई स्टार्टअप देखे गए। इनमें आर्यभट्ट रोबोटिक्स, मेडकॉर्ड्स, बोन हैप्पेटी, क्रेडलवाइज, क्रिक हीरोज, डोज एफएम, फर्स्ट हिव, फिस्टो, फायल, जीमेट्री, फिटबॉट्स, इनोव 4 साइट, आई थिंक लॉजिस्टिक क्विज सर्विस, जम्पर डॉट एआई, मेट्रूभर्ती, मॉबिसी, प्रेग बडी, रिक्रूटर फ्लो, स्वायत्त रोबोट, स्वजल सहित देश के 30 प्रमुख स्टार्टअप को टेक-30 के लिए चुना गया है।

 

इसलिए खास है मेडकॉर्ड्स


सीईओ श्रेयांस मेहता ने बताया कि देश में ओला कैब, उबेर, फ्लिपकार्ट आदि स्टार्टअप की शुरूआत बडे शहरों से हुई, जबकि मेडकॉर्ड्स को कोटा जैसे छोटे शहर से तीन युवाओं ने मिलकर शुरू किया। आज इससे राजस्थान के 2 हजार से अधिक गांवों के 2.60 लाख मरीज एवं 800 से अधिक मेडिकल स्टोर डिजिटल हैल्थकेअर का लाभ उठा रहे हैं। अब तक कोटा व झालावाड़ जिले के सरकारी अस्पतालों में मेडकॉर्ड्स हैल्थकेअर द्वारा ग्रामीण रोगियों को निःशुल्क सेवाएं दी गई हैं।

एक क्लिक से आसान हुआ रोगियों का इलाज 
हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ.साकेत गोयल ने कहा कि मोबाइल पर एक क्लिक से रोगी का सारा रिकॉर्ड मिल जाने से चिकित्सकों को डायग्नोसिस करने में बहुत सुविधा मिलेगी। इस सुविधा से राज्य में सभी मरीजों, डॉक्टर्स, हॉस्पिटल, लैबोरेट्री व मेडिकल स्टोर को दूरगामी लाभ होगा।

सीटीओ एवं को-फाउंडर निखिल बाहेती के अनुसार, मेडकॉर्ड्स हेल्थकेअर की सेवाएं कोटा व झालावाड के बाद अब बारां, बूंदी, सवाईमाधोपुर व करौली जिले के रोगियों को भी लाभान्वित किया जाएगा। क्लाउड कम्प्यूटिंग से डाटा आजीवन सुरक्षित होने से रोगियों को डॉक्टर्स के पुराने पर्चे या जांच रिपोर्ट्स को ढूंढने की परेशानी से छुटकारा मिलेगा। इस स्टार्टअप को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान मिलने से राज्य के आंत्रप्रिन्योर युवाओं का मनोबल बढ़ा है।

(Visited 336 times, 1 visits today)

Check Also

एक माह की नवजात की सांसें थमी तो ENT डॉक्टर ने बचाई जान

न्यूजवेव @ कोटा  कोटा में महावीर ईएनटी अस्पताल के चिकित्सकों ने एक माह की नवजात …

error: Content is protected !!