Monday, 22 April, 2024

नेशनल मेंटल मैथ्स प्रतियोगिता में चमके नन्हें जादूगर

4 से 14 वर्ष के बच्चों ने मेंटल मैथ के 10 राउंड में 300 से अधिक सवाल हल कर ह्यूमन कैलकुलेटर जैसा करिश्मा कर दिखाया 

न्यूजवेव@ कोटा

ट्रेंड्ज अबेकस के तत्वावधान में रविवार को श्रीनाथपुरम स्थित यूआईटी ऑडिटोरियम में 10वीं नेशनल मेंटल मैथ प्रतियोगिता हुई, जिसमें 5 राज्यों राजस्थान, मप्र, गुजरात, महाराष्ट्र व उत्तरप्रदेश से 4 से 14 वर्ष की उम्र के 1030 प्रतिभागी शामिल हुए। नन्हें जादूगरों ने मेंटल मैथ्स की 10 विभिन्न लेवल की स्पधाओं में भाग लेकर गोल्ड, सिल्वर, ब्रांज मेडल जीते।


ट्रेंड्ज अबेकस के अकादमिक व ट्रेनिंग निदेशक राहुल मिश्रा ने बताया कि इस राष्ट्रीय स्पर्धा में गणित की विभिन्न पद्धतियों में 5 व 7 मिनट के रिटर्न राउंड व सरप्राइज राउंड हुये, जिसमें बच्चों ने ह्यूमन कैलकुलेटर बनकर कुछ ही सैकंड में सवाल हल कर दिये। 5 राज्यों के अभिभावक अपने नौनिहालों का दिमागी करिश्मा देख चकित रह गये। जापानी तकनीक पर अधारित फ्लैश अनजन में प्रतिभागियों ने कठिन सवालों को आसानी से हल कर एकाग्रता को साबित कर दिखाया। प्रतियोगिता में बिना पेन-पेपर या कैलकुलेटर लिये इन प्रतिभागियों ने स्क्रीन पर द्रुत गति से दिखाये जा रहे अंकों को सही कैलकुलेट कर अपनी मानसिक योग्यता को साबित कर दिया।

गणित के डर को चुटकियों में दूर किया


मिश्रा ने कहा कि मैथ्स का डर दूर करने और तनाव रहित शिक्षा देने के लिये कोटा में राष्ट्रीय प्रतियोगिता आयोजित की गई। ये बच्चे खुद से प्रतिस्पर्धा करते हैं और खुद की कमियों को सैकंड में पहचान लेते हैं। अपने भीतर छिपी अनंत संभावनाओं को सच कर दिखाते हैं। आगे चलकर ये अपने क्षेत्र के ब्रांड एम्बेसेडर होंगेे।
वंडर राउंड में अभिलक्ष अरोडा ने 37 सेकंड के राउंड में सिंगल डिजिट के 43 सवाल हल कर दिये। बच्चों में आई क्यू बढ़ाने वाले रूबिक्स क्यूब राउंड में बहुत तेज गति से हल करने की चुनौती दी गई, जिसे नन्हें जादूगरों ने चुटकियों में कर दिखाया।

अबेकस के इनसाइक्लोपिडिया बने बच्चे


मेंटल मैथ्स प्रतियोगिता में ह्यूमन कैलकुलेटर बने विजेताओं को गोल्ड, सिल्वर व ब्रांज मैडल व प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। 40 विद्यार्थियों को ग्रेजुएशन अवार्ड व मेडल दिये गये। 10 स्कूल एसोसिएट, 16 सेंटर्स पर मेंटल मैथ्स में 415 नेशनल रिकॉर्ड दर्ज कराने वाले होनहार विद्यार्थियों को मंच पर मेडल से सम्मानित किया गया तो सभागार तालियों से गूंज उठा। पिछले तीन वर्षों से येे विद्यार्थी इंटरनेशनल लेवल पर भारत के लिये गोल्ड, सिल्वर व ब्रांज मैडल जीत रहे हैं। उल्लेखनीय है कि 2018 में जर्मनी में हुई जूनियर मेन्टल कैलकुलेशन वर्ल्ड चैंम्पियनशिप ट्रेंडज अबेकस की टीम ने भारत के लिए 4 पदक जीतकर विश्व रिकार्ड बनाया था।

शिक्षकों को शिक्षा महर्षि अवार्ड


छोटी उम्र में ही मेधावी बच्चों को उम्मीदों का आकाश दिखाने वाले इंटरनेशनल टीचर्स रेखा गुप्ता, सुुनील गर्ग, संदीप सिसोदिया व रचना मोदी को शिक्षा महर्षि अवार्ड से सम्मानित किया गया। नीतू दाधीच को शिक्षा ऋषि सम्मान दिया गया। 2018 में 55 नेशनल रिकॉर्ड बनाने वाले बच्चों को यंग जीनियस अवार्ड प्रदान किया गया। समारोह में 632 विद्यार्थी एवं शिक्षक बाहरी राज्यों से कोटा पहुंचे। इस अनूठी प्रतियोगिता में परदे के पीछे मेहनत करने वालों को शिक्षा सहयोगी अवार्ड से सम्मानित किया गया।

(Visited 298 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में रेलवे तत्काल टिकट की दलाली करते दो आरक्षण बाबू गिरफ्तार

मुंबई भेजते थे टिकटो को, RPF की बड़ी कार्रवाई न्यूजवेव @ कोटा आरपीएफ खुफिया अपराध …

error: Content is protected !!