Saturday, 13 April, 2024

एक्सप्रेस गति से विकास करेगा राजस्थान- मोदी

कोटा की आमसभा में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को सुनने के लिए चारों जिलों से पहुंचे कार्यकर्ता व नागरिक। आते ही उन्होंने कहा,कोटा को कौन नहीं जानता। मैं इस भूमि को नमन करता हूं

न्यूजवेव कोटा

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि राज्य में 70 हजार रू. करोड़ की लागत से बनने वााले तीन एक्सप्रेस हाईवे चालू होने के बाद राजस्थान विकास की ट्रेक पर एक्सप्रेस गति से आगे बढता हुआ दिखाई देगा। उन्होंने कहा कि हाडौती की धरती ने राज्य को दो मुख्यमंत्री भैरोसिंह शेखावत व वसुंधरा राजे दिए हैं, जिन्होंने राज्य को विकास के नए मोड पर खडा किया है।
सोमवार को दशहरा मैदान पर आयोजित आमसभा में आते ही उन्होंने कहा कि कोटा को कौन नहीं जानता। यहां देश के कोने-कोने सेे लाखों नौजवान अपने सपने सिद्ध करन के लिए आते हैं। वे इसे अपनी शिक्षा भूमि मानते हैं। कोटा ने अपने बलबूते पर इतनी सामर्थ्य ये यह शोहरत कमाई है, मैं इस भूमि को नमन करता हूं। कोटा डोरिया से टेक्सटाइल में कोटा का नाम दुनियाभर में रहा। भाजपा सरकार ने टेक्सटाइल में निर्यात व रोजगार बढाने के लिए विशेष पैकेज दिया, जिससे यह उद्योग फल रहा है।

विकास का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा कि कोटा-दरा राष्ट्रीय राजमार्ग पर भाजपा सरकार ने 800 करोड़ रू. की लागत से चौडी सड़कें बनाने का कार्य किया, इसी तरह, कोटा-बूंदी रोड पर 5 वर्ष में 225 करोड़ रू के सडक कार्य किए गए हैं।कोटा शहर में हैंगिंग ब्रिज चालू हो जाने से यह नेशनल कोरिडोर से जुड गया है। लेकिन कोटा पुराना कोटा नहीं बना रहे, इसके लिए हमने स्मार्ट सिटी में शामिल कर इसका विकास करने की शुरूआत की है। मोदी को सुनने के लिए पांडाल में जगह नहीं होने से हाडौती अंचल से आए भाजपा कार्यकर्ता व नागरिक सभास्थल के बाहर खडे़ होकर उनका उद्बोधन सुनते रहे।

उन्होंने चुटकी ली कि जो पार्टी परदे के पीछे मुख्यमंत्री का नाम तय नहीं कर पा रही है, वह आपके वोट की ताकत कैसे बन सकती है। प्रधानमंत्री बनने के बाद कोटा में उनका पहला भाषण सुनने के लिए जनता में उत्सुकता देखने को मिली।

आपके वोट की ताकत देखो

मोदी ने जनसमूह को देखकर कहा कि पांडाल छोटा पड़ गया है। बाहर तीन गुना लोग मेरी बात सुन रहे हैं। उन्होंने चुटकी लेते हुए कहा कि राजस्थान में किसीकी लहर चल रही है, चश्मा लगाकर देख लो, पता चल जाएगा। आपके वोट की ताकत क्या है, जरा सोचें। 2014 तक मेडम के रिमोट से केंद्र में सरकार चलती थी। जो बेटी पैदा नहीं हुई, वो कागजों मंे विधवा बन जाती थी और उसे विधवा पेंशन चालू हो जाती थी। इसी तरह, 6 करोड़ लोग जो पैदा ही नही हुए, उनके राशन कार्ड बनकर राशन सामग्री दिखाई जा रही थी। 2014 में आपके वोट ने मोदी को इस लूट-खसौट की जांच करने की ताकत दी। हमने 90 हजार करोड रू. की नकली बंदरबांट को बंद किया। आपके वोट से देश बदलता है, सपनों का भविष्य बनता है, इसलिए अपनी ताकत को सही जगह इस्तेमाल करो।

2014 तक देश में रिमोट सरकार थी

प्रधानमंत्री ने आंकडे़ देते हुए बताया कि 2010 से 2014 तक देश में रिमोट सरकार थी, जिसने 4 वर्ष में 59 गांवों में ब्राडबैंड सुविधा दी। 2014 में सरकार बदली तो 2018 तक 4 वर्ष में देश के 1 लाख गांवों में ब्रॉडबैंड सेवाएं पहुंच गई। आपका वोट गलत चला जाता तो 1 लाख गांवों तक पहुंचने में कितने साल और लग जाते।
इसी तरह, 2014 तक 4 वर्ष में 350 किमी तक ऑप्टिकल फाइबर केबल बिछी, जबकि 2018 तक हमने सिर्फ 4 वर्ष में 2.30 से 3 लाख किमी ऑप्टिकल फाइबर केबल डाली है। गांवों तक मोबाइल, इंटरनेट सुविधाएं मिलने से विकास की गति तेज हुई है।

राज्य का जिक्र करते हुए मोदी ने कहा 50-55 वर्ष में राज्य में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोले गए, जबकि वसुंधरा सरकार ने 5 वर्ष में राज्य में 11 नए मेडिकल कॉलेज खोलने की कीर्तिमान रच दिया। केंद्र सरकार ने 2 माह पूर्व आयुष्मान भारत योजना लागू की है, जिससे देश के 11 से 12 करोड़ परिवारों के 50 करोड़ से अधिक नागरिक जुड चुके हैं। इतना ही नहीं, 3 लाख निम्न व मध्यमवर्ग के लोगों ने गंभीर बीमारियों का इलाज बडे़ अस्पतालों में करवाय है। राज्य में भामाशाह स्वास्थ्य योजना भी गरीब लोगों को इलाज में राहत पहुंचा रही है।

मोदी ने कहा कि आजादी के 60 साल में 13 करोड़ परिवारों तक गैस कनेक्शन पहुंच सके। जबकि पिछले 4 वर्ष में हमने 12 करोड़ परिवारों को गैस कनेक्शन देकर ग्रामीण क्षेत्र की माताओं को धुंएं से बाहर निकाला है। एलईडी बल्ब की दरें 400 से 450 रू. हुआ करती थी,, 2014 में राज्य में सस्ते एलईडी बल्ब को आम जनता तक पहुंचाने के लिए योजना शुरू की गई। जिससे आज 50-60 रू. में एलईडी बल्ब मिल रहे हैं, इससे बिजली के बिल भी कम हुए।

(Visited 167 times, 1 visits today)

Check Also

जेईई मेन अप्रैल-सेशन में पहले दिन एनटीए ने पकड़े नकल के 10 मामले

** एक केस में कैंडिडेट बदला हुआ था, वहीं 9 अनुचित साधनों के प्रयोग के …

error: Content is protected !!