Friday, 23 February, 2024

किसान हित में राजस्थान में मसाला पैदावार पर टैक्स कम हो

राजस्थानी एसोसिएशन ऑफ स्पाइसेस (RAS) की दो दिवसीय रीजनल बिजनेस मीट-2024 में जुटेंगे देश-विदेश के मसाला उद्यमी व व्यवसायी
न्यूजवेव @ कोटा

राजस्थानी एसोसिएशन ऑफ स्पाइसेस (RAS) द्वारा कोटा में 10 व 11 फरवरी को दो दिवसीय रीजनल बिजनेस मीट-2024 आयोजित की जायेगी। रास के अध्यक्ष श्याम जाजू एवं सचिव महावीर गुप्ता ने बताया कि इस अधिवेशन में देश-विदेश से 500 से अधिक व्यापारी, प्रोसेसर, ट्रेडर्स, निर्यातक, उद्यमी, कमोडिटी एक्सपर्ट व किसान प्रतिनिधी शामिल होंगे। विभिन्न सत्रों में राजस्थान के धनिया, जीरा, मैथी, कसूरी मैथी, सरसों, सौंफ आदि की पैदावार, विपणन, निर्यात एवं बाजार परिदृश्य पर विशेषज्ञों द्वारा पैनल चर्चा की जाएगी।

सेटेलाईट सर्वे से किसानों को होगा लाभ

जाजू ने बताया कि रास (RAS) ने राजस्थान के विभिन्न जिलों में मसाला खेती कर रहे किसानों को सही दाम मिल सके, उसके लिये नई तकनीक से खेतों का सेटेलाईट सर्वे करवाया है। जिसकी रिपोर्ट अधिवेशन में प्रस्तुत की जायेगी। इससे किसान यह पता लगा सकेंगे कि संभावित पैदावार कितनी होगी, इस वर्ष मांग कितनी रह सकती है, इसे कम और कहां बेचना फायदेमंद होगा।
राजस्थान में मंडी टैक्स अन्य राज्यों से अधिक


संस्था के निदेशक लाडेश जैन किसानों व मसाला उद्योगों की समस्याओं पर चर्चा कर सरकार को अवगत कराया जायेगा। वर्तमान में राजस्थान में मसाला पैदावार का हिस्सा 65 प्रतिशत है। इस पर मंडी टैक्स 4.5 प्रतिशत है, जो गुजरात व मध्यप्रदेश से बहुत अधिक है। इस करभार के कारण किसान अपनी पैदावार को बेचने के लिये बाहरी राज्यों में ले जा रहे हैं, जिससे उनका खर्च बढता जा रहा है। उन्होंने सरकार से अपील की कि मंडी टैक्स में छूट देने से किसानों को लाभ होने के साथ ही, राज्य सरकार को भी जीएसटी के रूप में अधिक राजस्व मिलेगा। सरकार को किसान हित में शीघ्र ही इस पर निर्णय लेना चाहिये। इस अधिवेशन में प्रमुख मसाला कंपनी आची मसाला, शक्ति मसाला, स्वास्तिक मसाला आदि के प्रतिनिधि भी भाग लेंगे। वे विभिन्न देशों में भारतीय मसालों की बढती मांग एवं निर्यात संभावनाओं पर पैनल चर्चा करेंगे।

(Visited 46 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थानी मसाले औषधि गुणों से भरपूर, एक्सपोर्ट बढाने का अवसर – नागर

RAS रीजनल बिजनेस मीट-2024 : मसाला उद्योग से जुड़े कारोबारियो ने किया मंथन, सरकार को …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: