Monday, 22 April, 2024

श्री हनुमानजी के जन्मोत्सव पर करें ये 20 उपाय

31 मार्च को चैत्र मास की पूर्णिमा और हनुमान जन्मोत्सव है। शनिवार और हनुमान जन्मोत्सव के शुभ योग में किए गए उपाय सभी परेशानियां दूर कर सकते हैं। यहां जानिए उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. दयानंद शास्त्री के अनुसार इस दिन कौन से उपाय किए जा सकते हैं-

1.सिंदूर और चमेली के तेल से एक कागज पर स्वस्तिक बनाएं और हनुमानजी की पूजा में रखें। पूजा के बाद इस कागज को तिजोरी या धन स्थान में रखें। ऐसा करने से व्यय में कमी हो सकती है और धन वृद्धि के योग बन सकते हैं।

2.हनुमान जयंती पर हनुमानजी की मूर्ति पर लाल गुलाब की माला चढ़ाएं। इस उपाय से कुंडली के दोष और धन संबंधी परेशानियां दूर हो सकती हैं।

3.अगर आप धन लाभ पाना चाहते हैं तो हनुमान जयंती पर पीपल के 11 पत्ते लेकर मंदिर जाएं। इसके बाद इन पत्तों पर लाल चंदन से श्रीराम का नाम लिखें। पत्तों की माला बनाएं और हनुमानजी को चढ़ाएं।

4.नौकरी की परेशानियों को दूर करने के लिए पान के एक पत्ते पर बूंदी के दो लड्डू रखें, साथ ही एक लौंग भी रखें। इसमें चांदी की भस्म लगाकर हनुमानजी को चढ़ाएं। इस उपाय से नौकरी में लाभ मिल सकता है।

5.हनुमान जयंती पर लगा हुआ मीठा पान हनुमानजी को चढ़ाएं। इसमें गुलकंद, बादाम भी डालें। इस उपाय से परेशानियां दूर हो सकती हैं।

6.हनुमान जयंती पर सुंदरकांड, हनुमान चालीसा, हनुमानाष्टक का पाठ करना चाहिए। अगर आप इनमें से किसी एक का भी पाठ करेंगे तो घर में सुख-समृद्धि बढ़ सकती है।

7.हनुमान जयंती पर श्रीरामचरित मानस या श्रीराम रक्षा स्त्रोत का पाठ करने से मानसिक और शारीरिक बल मिलता है। मानसिक तनाव दूर होता है।

8.व्यापार की गिरावट रोकने के लिए हनुमान जयंती पर सिंदूरी लंगोट हनुमानजी को चढ़ाएं। इससे आपके व्यापार में बढ़ोतरी हो सकती है।

9.हनुमान जयंती पर किसी हनुमान मंदिर की छत पर लाल झंडा लगाएं। ये उपाय परेशानियों से बचा सकता है।

10.हनुमान जयंती पर किसी रोगी की सेवा करें। इस उपाय से हनुमानजी बहुत प्रसन्न होते हैं और भक्त को बीमारियों से बचाते हैं।

11.हनुमानजी के सामने सरसों के तेल का दीपक जलाएं और दीपक में 2 लौंग भी डाल दें। इस दीपक से आरती करें। ये उपाय आपकी सभी परेशानियां दूर कर सकता है।

12.किसी हनुमान मंदिर में बैठकर ऊँ रामदूताय नमः मंत्र का जाप 108 बार करें। ये उपाय सभी बाधाएं दूर कर सकता है।

13.दोपहर के समय बजरंग बली को गुड़, घी, गेहूं के आटे से बनी रोटी का चूरमा अर्पित किया जा सकता है।

14.सुबह के समय हनुमानजी प्रसाद के रूप में गुड़, नारियल, लड्डू चढ़ाएं।

15.हनुमानजी को शाम के समय फल जैसे आम, केले, अमरूद, सेवफल आदि का भोग लगाएं।

16.श्रीराम के अनन्य भक्त बजरंग बली की कृपा प्राप्ति के लिए विशेष रूप से ब्रह्मचर्य का पालन करना चाहिए। हनुमानजी की पूजा या मंदिर में शुद्धता एवं पवित्रता का विशेष ध्यान रखना चाहिए।

17.सभी परेशानियों को दूर करने के लिए इस मंत्र का जाप 108 बार करें।
मनोजवं मारुततुल्यवेगम् जितेन्द्रियं बुद्धिमतां वरिष्ठम्।
वातात्मजं वानरयूथमुख्यं श्री रामदूतं शरणं प्रपद्ये।।

18.अगर आप घर में सुख-समृद्धि बढ़ाना चाहते हैं तो इस मंत्र का जाप 108 बार करें।
मर्कटेश महोत्साह सर्वशोक विनाशन। शत्रून संहर मां रक्षा श्रियं दापय मे प्रभो।।

19.बीमारियों से मुक्ति चाहते हैं तो इस चैपाई का जाप 108 बार करें।
नासे रोग हरे सब पीरा।
जो सुमिरै हनुमत बल बीरा।।

20.दुर्भाग्य दूर करना चाहते हैं तो इस मंत्र का जाप करें।
वायुपुत्र नमस्तुभ्यं पुष्पं सौवर्णकं प्रियम्।
पूजयिष्यामि ते मूर्धि नवरत्न-समुज्जलम्

(Visited 1,132 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थानी मसाले औषधि गुणों से भरपूर, एक्सपोर्ट बढाने का अवसर – नागर

RAS रीजनल बिजनेस मीट-2024 : मसाला उद्योग से जुड़े कारोबारियो ने किया मंथन, सरकार को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!