Friday, 2 December, 2022

खैराबादधाम में दिखा अनूठा सर्वधर्म समभाव

दो दिवसीय मेडतवाल वैश्य समाज युवक-युवति परिचय सम्मेलन-2022
न्यूजवेव @ खैराबाद/कोटा

अखिल भारतीय मेडतवाल वैश्य समाज की तीर्थनगरी खैराबादधाम में पिछले एक सप्ताह में अनूठा धार्मिक एवं सामाजिक सद्भाव देखने को मिला। मेला मैदान में 26 व 27 फरवरी हुये दो दिवसीय युवक-युवति परिचय सम्मेलन-2022 में भाग लेने के लिये देशभर से 15 हजार से अधिक श्रद्धालु खैराबाद पहुंचे। कोरोना महामारी के ढाई वर्ष बाद तीर्थनगरी में विराट आयोजन होने से श्रद्धालुओं की संख्या दो गुना हो गई। ऐसे में खैराबाद गांव के सभी धर्मों एवं समाजों के संगठनों व नागरिकों ने अतिथि सत्कार की अनूठी मिसाल पेश की। मुस्लिम समाज से पूर्व सरपंच हाजी अब्दुल अहमद के परिजनों ने बाहर से आने वाले श्रद्धालुओं को ठहराने के लिये 100 बिस्तरों एवं अल्पाहार की व्यवस्था की।


सेवाभावी हबीब अहमद एवं इदरीस अहमद एमएसटी ने बताया कि मां फलौदी की कृपा से गांव में हमेशा शांति-सदभाव एवं मेलजोल का वातावरण रहता है। मेडतवाल समाज के बारह वर्षीय मेले में भी मुस्लिम समाज ने निशुल्क भूमि उपलब्ध करवाई थी। हम तीन पीढियों से फलौदी माता के धार्मिंक आयोजनों में निशुल्क सहयोग करते आ रहे हैं।

स्टोन व्यवसायी सुहैल खान, अतीक अहमद, इरशाद अहमद ताहिर अहमद, हाजी महुद अहमद, तनवीर, राहिल अहमद और उजैर अहमद ने बाहर से आनेे वालों का स्वागत करते हुये कहा कि हमें खैराबाद में श्रद्धालुओं का स्वागत करते हुये गर्व महसूस हुआ। हम बचपन से फलौदी मंदिर में खेलते-कूदते हुये बडे़ हुये है। गांव में होने वाले सभी धार्मिक आयोजनों में सभी समाजों के लोग मिलजुलकर सहयोग करते हैं। यहां की माटी में कदम-कदम पर भक्तिभाव दिखाई देता है।
महिला श्रद्धालुओं का सत्कार करने वाली साबिहा, शगुफता, नसीम, रजिया, अफसाना ने बताया कि फलौदी माता की छत्रछाया में गांव में मेलजोल की परम्परा वर्षो से चली आ रही है।

मंदिर व्यवस्था संयोजक मोहनलाल चौधरी ने बताया कि परिचय सम्मेलन में श्रंगी समाज, प्रजापति समाज, माली समाज आदि ने भी श्रद्धालुओं का स्वागत किया। दो दिन तक कस्बे में विशाल मेले जैसा माहौल बना रहा।

(Visited 215 times, 1 visits today)

Check Also

अच्छी शिक्षा प्राप्त करने के साथ संस्कार नहीं भूलें- घनश्यामाचार्यजी महाराज

सिद्धपीठ श्रीझालरिया मठ डीडवाना के पीठाधीश्वर स्वामी श्री घनश्यामाचार्यजी महाराज तीन दिवसीय प्रवास पर कोटा …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: