Friday, 12 July, 2024

सर्वोत्तम के प्रथम ओरिएंटेशन सत्र में उमड़े प्री-मेडिकल कोचिंग विद्यार्थी

न्यूज वेव @ कोटा
प्री-मेडिकल क्लासरूम कोचिंग के प्रमुख संस्थान सर्वोत्तम कॅरिअर इंस्टीट्यूट के प्रथम ओरिएंटेशन सत्र में फ्रेेशर्स विद्यार्थियों के चेहरों पर जबर्दस्त उत्साह देखने को मिला। विभिन्न राज्यों के गांव,कस्बों व शहरों से पहली बार कोटा में क्लासरूम कोचिंग लेने आए सैकड़ों विद्यार्थियों ने कोटा के शैक्षणिक वातावरण को सबसे अच्छा बताया।

यूआईटी ऑडिटोरियम में सर्वोत्तम कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशकों ने एम्स, नीट व प्री-मेडिकल की क्लासरूम कोचिंग के लिए प्रवेश लेने वाले विद्यार्थियों को संस्थान की कार्य प्रणाली, स्टडी मैटेरियल, रिजल्ट आधारित शिक्षा, अकादमिक कैलेंडर, लक्ष्य और स्टडी पैटर्न की जानकारी दी।

यूआईटी ऑडिटोरियम में ओरिएंटेशन सेशन की शुरूआत निदेशक ललित विजय, आशीष माहेश्वरी, आशीष बंसल, जीएस तिवारी, जितेन्द्र चांदवानी, आशीष बाजपेयी एवं मयंक जोशी ने माँ सरस्वती व गणेशजी के चित्र पर दीप प्रज्वलित कर की। इसके बाद निदेशकों ने ‘हमको मन की शक्ति देना, मन विजय करे’ प्रार्थना प्रस्तुत कर विद्यार्थियों को अपने लक्ष्य से जोड़ा।

एक-एक विद्यार्थी की मेहनत पर फोकस
निदेशक मयंक जोशी ने सर्वोत्तम कॅरिअर इंस्टीट्यूट के विजन को समझाते हुए कहा कि बच्चे सब सुविधाएं छोड़कर घर से दूर केवल अपने लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए कोटा में एक से दो वर्ष मेहनत करने आए हैं, संस्थान के सभी शिक्षक उनके साथ नियमित मेहनत करेंगे। वर्षपर्यंत अभिभावक अपने बच्चों का उत्साहवर्धन करते रहें। विद्यार्थी यहां केवल पढ़ाई पर फोकस करें, अन्य सभी गतिविधियों से दूर रहें।

निदेशक जितेन्द्र चांदवानी ने सर्वोत्तम की शैक्षणिक गतिविधियों की जानकारी देते हुए स्टूडेंट्स को शिक्षा से जुड़ी सभी सुविधाओं के बारे में विस्तार से बताया। निदेशक आशीष बंसल ने हजारों विद्यार्थियों को सफलता के मंत्र सिखाए।

कोटा में परिवार जैसा माहौल देंगे
उन्होंने कहा कि प्रत्येक परीक्षा का पेपर देते समय स्टूडेंट अपने ध्येय को सामने रखे। पूरी एकाग्रता और आत्मविश्वास के साथ पेपर दें। अंत में निदेशक आशीष बाजपेयी ने सर्वोत्तम पर शिक्षा के साथ अन्य सभी सुविधाओं की जानकारी देते हुए पेरेंट्स को विश्वास दिलाया कि वे अपने बच्चे को इस विश्वास पर छोड़ कर जाएं कि सर्वोत्तम में उनको अपने परिवार जैसा महसूस होगा। क्योंकि यहां भीड़ से अलग एक-एक विद्यार्थी पर फैकल्टी परिवार की तरह देखरेख करते हुए उसे सफलता की मंजिल तक पहुचाते हैं।
समारोह में सर्वोत्तम की फैकल्टी टीम ने अपना परिचय दिया एवं अपने बच्चों को सर्वश्रेष्ठ कोचिंग दिलाने के लिए कोटा कोचिंग पर विश्वास करने के लिए पेरेंट्स का आभार जताया।

(Visited 436 times, 1 visits today)

Check Also

राजस्थान के सरकारी स्कूलों में शिक्षकों के पास मोबाइल मिले तो खैर नहीं

शिक्षा मंत्री के ओएसडी सतीश गुप्ता ने जयपुर में किया विभिन्न स्कूलों का औचक निरीक्षण …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!