Saturday, 13 July, 2024

21 मार्च को लोकतंत्र विजय दिवस मनाया

लोकतंत्र रक्षा मंच राजस्थान की कोटा ईकाई नेआपातकाल के दौरान कारावास के अनुभवों को साझा किया
न्यूजवेव @ कोटा
लोकतंत्र रक्षा मंच राजस्थान की कोटा ईकाई ने मंगलवार को जयघोष के साथ लोकतंत्र विजय दिवस मनाया। लोकतंत्र सेनानियों ने भारत माता की जय, लोकतंत्र अमर रहे, लोकनायक जयप्रकाश नारायण, नानाजी देशमुख अटलबिहारी वाजपेयी व लालकृष्ण आडवाणी जिंदाबाद के नारे लगाये।
मंच के प्रदेश मंत्री बालचन्द गर्ग ने बताया कि कहा कि 21 मार्च 1977 को भारत में आपातकाल हटाकर लाकतंत्र की स्थापना की गई। इसीलिये इसे प्रतिवर्ष विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है। लोकतंत्र सेनानियों ने दाऊदयाल जोशी पार्क में दाउजी की प्रतिमा को नमन करते हुये आपातकाल के दौरान कारावास के अनुभवों को साझा किया।
लोकतंत्र रक्षा मंच, राजस्थान के कार्यवाहक प्रदेश अध्यक्ष हनुमान शर्मा ने कहा कि तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी ने अपनी कुर्सी बचाने के लिये 25 जून 1975 की रात्रि को आपातकाल लगाकर सभी विरोधियों को जेलो में ठूंस दिया था। आपातकाल के दौरान आम जनता के साथ क्रूरता बरती गई। हजारों लोगों की जबरन नसबंदी की गई। निर्दोश नागरिकों को यातनाये दी गई। सत्याग्रहियों को उल्टा लटकाकर पीटा गया। देशभर में भय का वातावरण बनाकर तानाशाह शासक होने का परिचय दिया, जिससे भारतीय लोकतंत्र कलंकित हुआ।
मंच के प्रदेश उपाध्यक्ष गणपतलाल शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने लोकतंत्र की रक्षा के लिये देशभर में बडे स्तर पर सत्याग्रह करवाये। उस दौरान 1 लाख 40 हजार लोकतंत्र रक्षक जेलो में रहे। आखिर जनदबाव के सामने तानाशाह को झुकना पडा। देश में आम चुनाव कराने पड़े। 21 मार्च 1977 को आपातकाल हटाया गया जिससे भारतीय लोकतंत्र की विजय हुई। संभागीय संयोजक रमेश गोचर ने सभी का आभार जताया। इस दौरान गिरिराज यादव, राजेन्द्र सिंह, नंदलाल गौड सुंदरलाल, धन्नालाल गौड, महेंद्र गुप्ता नरेंद्र जैन, हरिकिशन सोनी, जुगलकिशोर व चंद्रप्रकाश आदि लोकतंत्र सैनानी भी मौजूद रहे।

(Visited 235 times, 1 visits today)

Check Also

कोटा में प्रत्येक कोचिंग विद्यार्थी की यूनिक आईडी बनेगी

कोचिंग विद्यार्थियों को अन्य कोर्सेस की जानकारी भी दें, फीस वापसी की सरल पॉलिसी बनायें, …

error: Content is protected !!