Monday, 22 April, 2024

हर इंसान के डीएनए में है योग – रामदेव

अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर कोटा में एतिहासिक योग शिविर कल से, 50 विश्व रिकार्ड बनाने का दावा, कोटा को योग पीठ की सौगात मिलेगी

न्यूजवेव @ कोटा

‘योग का कोई मजहब नहीं होता, हर इंसान के डीएनए में योग बसा है। इससे बीमारियां और नशे की लत दूर होती है, इसलिए सभी धर्माे के लोगों को योग से जुड़ना चाहिए।’ यह बात सोमवार कोटा पहुंचे पतजंलि योग पीठ के प्रणेता व योग गुरू स्वामी रामदेव ने पत्रकार वार्ता में कही।

एक सवाल के जवाब में उन्होने कहा कि नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी सभी मेरे साथी हैं, मैं किसी दल से जुडा हुआ नहीं हूं। राहुल को भी रोज योग करना चाहिए, इससे हमारे मन में शांति बनी रहती है। उन्होंने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर वे हर साल अलग-अलग शहर में योग शिविर आयोजित करते हैं। लेकिन इस बार कोटा का योग शिविर एतिहासिक होगा।

21 जून को राज्य सरकार, कोचिंग संस्थानों व नागरिकों के सहयोग से शिक्षा नगरी कोटा में योग से 50 तरह के विश्व रिकॉर्ड बनाए जाएंगे, जिसका सीधा प्रसारण देश-विदेश के 100 से अधिक टीवी चैनल पर किया जाएगा, ताकि देश में योग के प्रति जागरूकता आए। इस मौके पर कोटा शहर को मुख्यमंत्री योग पीठ की सौगात देने जा रही है।

मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे इन दिनों हाडौती में जनसंवाद कार्यक्रम में आम नागरिकों से रूबरू हो रही हैं। वे 19 जून को बारां व 20 जून को कोटा पहुंचेगी। 21 जून को योग शिविर में वे स्वयं शामिल होकर योग का विश्व रिकॉर्ड बनाने में भागीदार बनेगी।

इस विश्व रिकॉर्ड के लिए कोटा को ही क्यों चुना? इस सवाल पर स्वामी रामदेव ने कहा कि यहां देशभर के विद्यार्थी अध्ययन कर रहे हैं। दूसरा, पहले जहां भी योग शिविर हुए बरसात आ जाने से व्यवधान रहा, इस बार राजस्थान में मानसून देरी से आ रहा है, इसलिए इसे योग शिविर के लिए उपयुक्त माना।

सोमवार को स्वामी रामदेव के कोटा आगमन से शहर को शिक्षा नगरी के साथ ‘योग नगरी’ बनाने के लिए जबर्दस्त उत्साह दिखाई दिया। हजारों योग साधक ऐतिहासिक योग शिविर को सफल बनाने में जुटे हैं। जिला प्रशासन द्वारा बडे़ स्तर पर तैयारियों को अंतिम रूप दिया गया।

रूचि सोया में हमारी रूचि नहीं
कोटा के पास रूचि सोया प्लांट को खरीदने के मामले में एक सवाल को वे टाल गए। उनसे पूछा गया कि रूचि को खरीदने के लिए अडानी समूह द्वारा 6 हजार करोड़ निवेश करने की बात सामने आई है, जबकि पतंजलि 5500 करोड़ रू पर अडिग है, ऐसे में क्या वे रूचि सोया प्लांट खरीदना चाहेंगे? उन्होंने हंसते हुए कहा कि रूचि में हमारी कोई रूचि नहीं है।

(Visited 301 times, 1 visits today)

Check Also

जेईई मेन अप्रैल-सेशन में पहले दिन एनटीए ने पकड़े नकल के 10 मामले

** एक केस में कैंडिडेट बदला हुआ था, वहीं 9 अनुचित साधनों के प्रयोग के …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!