Sunday, 21 July, 2024

समाजसेविका कुसुमलता जैन का मरणोपरांत हुआ नेत्रदान

यूरो किड्स प्री-स्कूल की संचालिका एवं वरिष्ठ समाजसेविका कुसुमलता जैन को स्वयंसेवी संस्थाओं, अग्रवाल समाज व जैन समाज  ने दी भावपूर्ण श्रद्धांजलि 
न्यूजवेव कोटा
कोटा जंक्शन स्थित यूरो किड्स प्री-स्कूल की संचालिका एवं वरिष्ठ समाजसेविका श्रीमती कुसुमलता जैन (65) का गुरुवार सुबह 5ः30 बजे हृदय गति रूक जाने से आकस्मिक निधन हो गया। शहर की विभिन्न सामाजिक व धार्मिक संस्थाओं, गौशाला एवं जैन मंदिर में तन-मन-धन से निस्वार्थ सेवा करने वाली कुसुमलता जैन के निधन का समाचार सुनकर शोक की लहर छा गई। शहर की स्वयंसेवी संस्थाओं, अग्रवाल समाज व जैन समाज व प्रबुद्ध नागरिकों ने अपूरणीय क्षति बताते हुये उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि अर्पित की।

शाइन इंडिया के प्रेसीडेंट डॉ. कुलवंत गौड़ ने बताया कि गुरुवार सुबह 5ः30 बजे महावीर ईएनटी हॉस्पिटल के निदेशक व ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. विनीत जैन ने सूचित किया कि माताजी की अंतिम इच्छा थी कि मरणोपरांत मेरी आँखों से किसी गरीब को रोशनी अवश्य मिलनी चाहिए। उनकी भावनाओं का ध्यान रखते हुए तुरन्त नेत्रदान के लिए शाइन इंडिया की टीम को फोन किया और उनकी दोनों आंखे सुरक्षित ढंग से संग्रहित कर ली गई हैं।


दिवंगत कुसुमलता जैन के वरिष्ठ पुत्र विकास जैन यूएसए में सीनियर इंजीनियर हैं। पति इंजीनियर महावीर जैन ऑइल एन्ड गैस कंपनी से सेवानिवृत्त हुए हैं।

दिवंगत कुसुमलता ने 1975 में एमए इकोनॉमिक्स की शिक्षा ली थी,उसके बाद 2001 में उन्होंने कोटा जंक्शन क्षेत्र में कोटा में सबसे पहले यूरो किड्स प्ले स्कूल की नींव रखी थी। उन दिनों कोटा शहर में कोई प्ले स्कूल नहीं था। वे छोटे बच्चों को शिक्षा के साथ अच्छे संस्कार देने पर जोर देती थी। उन्होंने कई गरीब बच्चों की पढ़ाई व महिलाओं के इलाज में हरसम्भव मदद की।

अग्रवाल समाज व जैन समाज की सामाजिक गतिविधियों में सदैव अग्रणी रही। कई महिला संगठनों ने उनके निधन पर उनकी प्रेरक सेवाओं को याद करते हुये श्रद्धांजलि दी। दान व चैरिटी उनकी जीवनशैली का पर्याय बन गया था। प्ले स्कूल में नौनिहाल बच्चों के साथ खेलते हुये स्नेह व मातृत्व भाव सभी शिक्षकों के लिये प्रेरणादायी रहा।

(Visited 263 times, 1 visits today)

Check Also

हॉस्टल्स से यूडी टैक्स की वसूली आवासीय श्रेणी में हो

जयपुर में विधायक संदीप शर्मा के साथ यूडीएच मंत्री झाबर सिंह खर्रा से मिला प्रतिनिधिमंडल …

error: Content is protected !!