Saturday, 15 June, 2024

कोटा के कोचिंग संस्थानों ने गाइड लाइन शर्तो को स्पष्ट करने की मांग की

कोटा स्टूडेंट्स वेलफेयर सोसायटी ने जिला कलक्टर को सौंपा पत्र

न्यूजवेव@कोटा.

राज्य सरकार द्वारा केन्द्र सरकार की प्रस्तावित गाइड लाइन की अक्षरशः पालना के आदेश जारी किए जाने पर कोटा स्टूडेंट्स वेलफेयर सोसायटी ने इसमें व्यवस्थागत चुनौतियां बताते हुए स्पष्टीकरण मांगा है। इस संबंध में कोटा के कोचिंग संचालक सोमवार को जिला कलक्टर डॉ.रविन्द्र गोस्वामी से मिले और कई मुद्दों पर स्पष्टीकरण जारी करने की मांग की।
सोसायटी के सदस्यों ने कहा कि राज्य सरकार की ओर से जारी किए गए आदेश में यह स्पष्ट नहीं किया गया है कि कोचिंग के रजिस्ट्रेशन के लिए सक्षम अधिकारी कौन होगा और कहां आवेदन किया जाना है। नियमावली में क्रमांक-5 व 4 (आई) के लिए यह स्पष्ट नहीं है। यदि गाइड लाइन की पालना के संबंध में कोई शिकायत करनी हो तो भी सक्षम अधिकारी की जानकारी होनी चाहिए। इसका उल्लेख कहीं नहीं है।
इसके साथ ही गाइड लाइन लागू करने के संबंध में भी तिथि भी स्पष्ट नहीं की गई है। जब तक ऑिॅफशियल गजट में इन निर्देशों को शामिल नहीं किया जाता तब तक इन्हें एक विभागीय निर्देशों के रूप में ही देखा जाता है। राज्य सरकार को इन निर्देशों की पालना के संबंध में तिथि भी जारी की जानी चाहिए थी। गाइड लाइन में स्पष्ट किया गया है कि रजिस्ट्रेशन ऑनलाइन किए जाने हैं, जबकि ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के लिए कोई वेब पोर्टल अभी तक नहीं है।
सदस्यों ने कहा कि इस गाइड लाइन के जारी करने के बाद असमंजस की स्थिति भी बनी है। इससे पूर्व सितम्बर 2023 में जारी की गई गाइड लाइन की पालना की जा रही थी। अब नई गाइड लाइन आने पर क्या पुरानी गाइड लाइन अप्रभावी हो जाएगी। इस संबंध में भी स्पष्टीकरण दिया जाना चाहिए। गाइड लाइन लागू करने के साथ ही इसकी नियमावली व प्रक्रिया भी स्पष्ट की जानी चाहिए।
सोसायटी के सदस्यों ने कहा कि गाइड लाइन लागू करने से पहले राज्य सरकार द्वारा स्टूडेंट्स के अधिकार और कोचिंग संस्थानों के पक्ष को लेकर कानूनी राय ली जानी चाहिए थी। इस संबंध में राज्य सरकार से कोटा स्टूडेंट्स वेलफेयर सोसायटी ने पूर्व में मांग भी की थी कि जब भी इस प्रस्ताव पर चर्चा की जाएगी, कोचिंग संस्थानों का पक्ष भी सुना जाएगा। लेकिन यहां कोचिंग संस्थानों का पक्ष सुने बिना ही इसे अक्षरशः लागू करने का आदेश जारी कर दिया गया जो कि कोटा के कोचिंग संस्थानों के साथ अन्याय है।
इस संबंध में जिला कलक्टर डॉ.रविन्द्र गोस्वामी ने कहा कि गाइड के अध्ययन के संबंध में जो सवाल कोटा स्टूडेंट्स वेलफेयर सोसायटी के सदस्यों ने उठाए हैं, इसके संबंध में उच्चाधिकारियों को सूचित किया जाएगा और सक्षम स्तर पर बात रखी जाएगी। प्रयास किया जाएगा कि जल्द गाइड लाइन के तथ्यों में स्पष्टता आए।
जिला कलक्टर से मिले प्रतिनिधि मंडल में एलन से नवीन माहेश्वरी, अमित गुप्ता, मोशन से नितिन विजय, वाइब्रेंट से महेन्द्र सिंह चौहान, नितिन जैन, आकाश से अखिलेश दीक्षित तथा रेजोनेन्स, अनअकेडमी, फीजिक्स वाला, रिलायबल व बंसल क्लासेज के प्रतिनिधि भी मौजूद रहे।

(Visited 50 times, 1 visits today)

Check Also

स्वयंसेवकों में हो कर्तव्य पालन की प्रतिबद्धता – निम्बाराम

– कोटा में राजस्थान क्षेत्र के 20 दिवसीय संघ कार्यकर्ता विकास वर्ग-प्रथम का समापन न्यूजवेव@कोटा …

error: Content is protected !!