Monday, 27 June, 2022

मेेहनत की बैसाखी से मेडिकल कॉलेज की सीढ़ियां चढ़ा दिव्यांग साजन

नीट-2019 में चयनित दिव्यांग साजन को गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज, बेतिया में मिला प्रवेश
न्यूजवेव @ कोटा
कॅरिअर में कुछ बनने की ख्वाहिश सामने हो तो राह में आने वाली हर बाधा भी साथ निभाने लगती है। दिव्यांग साजन कुमार भले ही शारीरिक दुर्बलता से चलने-फिरने में असक्षम हो, लेकिन मजबूत इरादों से उसने इस वर्ष गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज में दाखिला लेने की सपना सच कर दिखाया।


एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट ने छात्र साजन की पढ़ाई में मदद करते हुये उसे घर से लाने-ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था की। साजन का कहना है कि दिव्यांग होना अभिशाप नहीं, बल्कि एक चुनौती है। मेरी स्थिति देख लोगो ने पापा को मुझे कोटा नहीं भेजने की सलाह दी लेकिन पापा ने मुझ पर भरोसा किया और मुझे कोचिंग के लिये कोटा भेज दिया।
पिता ने जमीन गिरवी रखी
जन्म से दोनों पैरों से अपाहिज साजन के परिवार की माली हालात कमजोर रही। पिता लाल बहादुर रॉय जेरोक्स की दुकान चलाते हैं। पिता ने जमा पूंजी भी मेरे इलाज में लगा दी। 10वीं कक्षा में 83 एवं 12वीं में 63 प्रतिशत अंक प्राप्त किए। परिवार में एक बीघा जमीन से घर के लिये 4-5 महीने का अनाज पैदा हो जाता है। कोचिंग का खर्च उठाने के लिये पापा जमीन गिरवी रख पैसा उधार लिया और मुझे पढ़ने के लिए कोटा भेजा।
न्यूरोलॉजिस्ट बनने की चाह
सजन एमबीबीएस करके न्यूरोलॉजी में पीजी करना चाहता है। शरीर अक्षम होने से कई दिक्कतों का सामना तो करना पड़ता है लेकिन मन में कुछ बनने की इच्छाशक्ति ने यह संभव कर दिखाया। मैं भविष्य में गरीबों की सेवा करना चाहता हूं। एलन कॅरिअर इंस्टीट्यूट के निदेशक नवीन माहेश्वरी ने बताया कि संस्थान को दिव्यांग साजन जैसे विद्यार्थियों पर गर्व है जो हौसले के साथ मंजिल को छू रहे हैं।

(Visited 270 times, 1 visits today)

Check Also

कर्नाटक 12वीं बोर्ड रिजल्ट घोषित, टॉप-10 रैंक पर रेजोनेंस-बेस के विद्यार्थियों का कब्जा

कर्नाटक 12वीं बोर्ड (PUC 2) परीक्षा 2022 में रेजोनेंस – बेस के विद्यार्थियों का टॉप …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: