Friday, 2 December, 2022

लोकसभा अध्यक्ष की पहल पर स्कूली बच्चे भी देखेंगे संसद

राजस्थान में कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र से ‘समझ संसद की‘ अभियान की शुरूआत
न्यूजवेव@ कोटा
राजस्थान में कोटा-बूंदी संसदीय क्षेत्र से सरकारी या निजी स्कूल में अध्ययनरत कक्षा-6 से 12वीं तक के विद्यार्थियों को भारतीय संसद देखने का अनूठा अवसर मिलेगा। लोकसभा अध्यक्ष माननीय ओम बिरला ने एक अनूठी पहल करते हुये ‘‘समझ संसद की‘‘ अभियान के तहत परीक्षा के माध्यम से चयनित बच्चों को भारतीय लोकतंत्र की सर्वोच्च संस्था एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थान देखने का सपना सच हो सकेगा।


प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा ‘‘नो यॉर कॉन्स्टीट्यूशन‘‘ (Know Your Constitution) आव्हान पर स्पीकर बिरला ने स्वयं पहल कर इस अनूठे अभियान की पहल कोटा से की। इस अभियान का उद्देश्य विद्यार्थियों को देश की समृद्ध लोकतांत्रिक परम्पराओं से परिचित करवाना है। इसके अलावा उन्हें राष्ट्र निर्माण में महान नेताओं के योगदान तथा जनप्रतिनिधियों की भूमिका और संसद के कामकाज से अवगत करवाना भी है। लोकसभा की संस्था प्राइड और राजस्थान सरकार के शिक्षा विभाग के तत्वावधान में यह परीक्षा आयोजित की जायेगी। परीक्षा के लिए विद्यार्थी स्कूल में ही रजिस्ट्रेशन करवा सकेंगे।
पहले चरण की परीक्षा 1 दिसंबर को
उन्होंने बताया कि परीक्षा दो चरणों में आयोजित की जाएगी। पहला चरण 1 दिसम्बर को विश्व एकता दिवस के दिन होगा। इस चरण में सफल रहने वाले विद्यार्थी 12 जनवरी को स्वामी विवेकानंद जयंती के अवसर राष्ट्रीय युवा दिवस पर आयोजित होगा। दूसरे चरण में सफल रहने वाले विद्यार्थी अध्ययन दौरे पर दिल्ली जाएंगे।
वेबसाइट और ऐप पर मिलेगी अध्ययन सामग्री
परीक्षा के दोनों चरणो के लिए अध्ययन सामग्री प्राइड की वेबसाइट और डिजिटल संसद एप पर उपलब्ध रहेगी। इसके अलावा स्कूल में शिक्षक भी विद्यार्थियों को परीक्षा की तैयारी में सहयोग करेंगे।
विजेताओं को सर्टिफिकेट ऑफ मेरिट
प्रतियोगिता के विजेता बच्चों को संसद तथा दिल्ली के अन्य महत्वपूर्ण स्थानों के दौरे के अलावा प्राइड की ओर से सर्टिफिकेट ऑफ मेरिट और स्मृति चिन्ह से सम्मानित किया जाएगा। सभी प्रतिभागियों को ई- पार्टिसिपेशन सर्टिफिकेट मिलेंगे।
तीन वर्गों में बांटे विद्यार्थी
इस अभियान में स्कूली विद्यार्थियों को तीन चरणों में बांटा गया है। पहला, कक्षा 6 से कक्षा 8 तक, दूसरा कक्षा 9 व 10वीं तक और तीसरे वर्ग कक्षा 11वीं व 12वीं के विद्यार्थी शामिल हांेगे।

भारतीय संसद सर्वोपरि

आजादी के अमृत महोत्सव में भारतीय संसद हमारे लोकतंत्र का सर्वाेच्च मंदिर है। देश के विकास एवं उपलब्धियों के लिये भारतीय संसद की भूमिका सबसे अहम होती है। देश के महान नेताओं ने संविधान का निर्माण भी संसद में किया है। हमारी युवा पीढ़ी जितना नजदीक से संसद और लोकतांत्रिक प्रक्रियाओं को देखेगी, देश के नवनिर्माण में उनकी भागीदारी और अधिक होगी।
-ओम बिरला, लोकसभा अध्यक्ष

(Visited 84 times, 3 visits today)

Check Also

कोटा के बडे़ संस्थान से मिलेगी मात्र 1रू में क्लासरूम कोचिंग

वायब्रेंट एकेडमी द्वारा जेईई-मेन व एडवांस्ड,2023 के लिये विशेष कोर्स ‘वज्र-111’ लांच न्यूजवेव @कोटा  देशभर …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: