Monday, 22 July, 2024

साफ-सुथरा इंदौर लगातार चौथी बार नंबर-1

न्यूजवेव @ नईदिल्ली
इंदौर ने लगातार चौथी बार देश में सबसे साफ-सुथरा शहर होने का खिताब जीतने का रिकाड बनाया है। सूरत को दूसरा और नवी मुंबई को तीसरा स्थान मिला। छत्तीासगढ़ को 100 यूलएबी श्रेणी में सबसे साफ-सुथरा राज्य घोषित किया गया। झारखंड को 100 से कम यूएलबी श्रेणी में सबसे साफ-सुथरे राज्य का खिताब मिला। स्वैच्छिक शहर-2020 सर्वेक्षण रिपोर्ट के अनुसार, अब तक 4,324 शहरी ULB को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया गया है। 1,319 शहरों को ODF प्रमाणन दिया गया।


इंदौर, अंबिकापुर, नवी मुंबई, सूरत, राजकोट और मैसूर को 5-स्टार तथा 86 शहरों को 3-स्टांर और 64 शहरों को 1-स्टार शहर का खिताब दिया गया। सर्वेक्षण रिपोर्ट 2021 में जलमल शेाघन और प्रदूषित जल के फिर से इस्तेमाल के तौर तरीकों के साथ कचरा प्रबंधन और लैंडफिलिंग प्रबंधन पर जोर दिया गया। केन्द्रीय आवास व शहरी मामलों के राज्य मंत्री हरदीप पुरी ने कहा कि यह सर्वे हमें न केवल ‘स्वच्छ‘ बल्कि ‘स्वस्थ, सशक्त, सम्पन्न, समृद्ध तथा आत्मनिर्भर भारत बनाने के मार्ग पर भी आगे ले जाएगा।
मंत्रालय के सचिव दुर्गाशंकर मिश्रा ने कहा, “जनवरी 2016 में 73 शहरों, जनवरी 2017 में 434 शहरों की रैंकिंग के लिए स्वच्छ सर्वेक्षण हुआ। 2019 में सर्वेक्षण में 4203 शहरों को स्थान दिया गया, 2020 में कुल 4242 शहरों, 62 छावनी बोर्डों और 97 गंगा शहरों का सर्वेक्षण किया गया जिसमें 1.87 करोड़ नागरिकों की अभूतपूर्व भागीदारी देखी गई।

सर्वेक्षण की खास बातें

  •  1.87 करोड लोगों का फीडबैक मिला
  •  1.70 करोड़ नागरिकों ने स्वच्छता ऐप पर पंजीकरण कराया
  • 11 करोड़ लोगों ने सोशल मीडिया पर प्रतिक्रिया दी
  •  5.5 लाख स्वच्छताकर्मी व 84000 कचरा बीनने वालों को मुख्यधारा से जोडा
  • 4 लाख अनुबंधिक कर्मचारियों को स्थानीय निकायों ने काम मिला
  • 21000 कचरा संभावित क्षेत्रों की पहचान की गई।
(Visited 384 times, 1 visits today)

Check Also

भक्तों को असमय कष्टों से मुक्त कर देतें हैं श्रीकृष्ण- अचार्य त्रिवेदी

कोटा में श्रीमद भागवत कथा के चौथे सोपान में हुई अमृत वर्षा न्यूजवेव @कोटा  विनोबाभावे …

error: Content is protected !!