Tuesday, 23 April, 2024

12 वर्ष बाद कुुरिंजी फूलों से खिल उठा नीलगिरी पर्वत

न्यूजवेव@ मुन्नार

अप्रतिम प्राकृतिक सौंदर्य से सराबोर केरल का नीलगिरी पर्वत इन दिनों दुर्लभ कुरिंजी फूलों से आच्छादित हो रहा है। खास बात यह कि ये कुरिंजी फूल विश्व में केवल केरल के मुन्नार क्षेत्र में 12 वर्ष में एक बार ही दिखाई देते हैं।


केरल टूर पर गए कोटा के रिटायर्ड प्रोफेसर डॉ. एसके राठी ने बताया कि नीलगिरी पर्वत पर नीले रंग के प्राकृतिक फूलों की छटा को देखने के लिए देश-विदेश के सैलानी आ रहे हैं। केरल टूरिज्म ने इसका ई-ब्रॉशर भी जारी किया है। पर्यावरण प्रेमी, फोटोग्राफर, प्रकृति विशेषज्ञ आदि यहां ठहरकर रोज सुबह पर्वतमाला के अनूठे सौंदर्य को क्लिक कर रहे हैं। चारों ओर नील गिरी हिल्स पर नीले फूलों की चादर दिखाई दे रही है।

कोटा के स्पाइसेस व्यवसायी महावीर गुप्ता ने बताया कि वे बिजनेस टूर पर अर्नाकुलम व कोच्चि जाते हैं। वहां से मुन्नार जाने पर देखा कि दुर्लभ एवं खूबसूरत कुरिंजी फूलों को देखने के लिए देश-विदेश के टूरिस्ट उमड़ रहे हैं। मुन्नार के नजदीक इरावीकुलम नेशनल पार्क भी दर्शनीय है।

ये अनूठे फूल 12 वर्ष में एक बार मुन्नार में जुलाई से अक्टूबर तक खिलते हैं। इस दौरान यहां का वातावरण व तापमान इनके अनुकूल रहता है। इस क्षेत्र में कुरिंजी फूल 1982,1994 एवं 2006 के पश्चात् अब 2018 में खिल उठे हैं। इन दिनों नील कुरिंजी फूलांे की छटा से मुन्नार भी कश्मीर की वादियों जैसा खूबसूरत लग रहा है।

(Visited 1,069 times, 1 visits today)

Check Also

PHF Leasing Ltd. announces hiring of over 200 people

Openings will be across 10 states and Union Territories of Operations  Newswave @ Jallandhar PHF …

error: Content is protected !!