Wednesday, 25 May, 2022

खनन विभाग के कोटा वृत में बेशकीमती खनिजों के भण्डार

राजस्थान के कोटा वृत में करौली के पास पोटाश व दौसा में कॉपर एवं गोल्ड के भण्डार
न्यूजवेव @ कोटा

राजस्थान में कोटा वृत के करौली जिले के सपोटरा गांव के पास पोटाश के भण्डार खोजे गए है। प्रदेश के खनन विभाग में अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ.सुबोध अग्रवाल ने कहा कि कोटा वृत में बेशकीमती खनिजों का अथाह भण्डार होने की उम्मीद है। उन्होंने निर्देश दिये कि समूचे वृत में खनिज खोज और खनन कार्य मे तेजी लाई जाये।
डॉ.अग्रवाल ने कहा कि पोटाश के क्षेत्र में भारत पूरी तरह से आयात पर निर्भर है। ऐसे में पोटाश खनन के कंपोजिट लाइसेंस के कार्य में तेजी लायें। उन्होंने बताया कि दौसा में कॉपर व गोल्ड के भण्डार मिलने की सूचना है। इसके खोज कार्यों को और गति दी जाये। उन्होंने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 में माइंस विभाग ने खनिज खोज से लेकर खनन प्लाटों की नीलामी, वैध खनन, अवैध खनन गतिविधियों पर प्रभावी रोक और राजस्व अर्जन में नया कीर्तिमान स्थापित किया है।


वे शुक्रवार को खनिज भवन में कोटा वृत के अधिकारियों की समीक्षा बैठक ले रहे थे। उन्होंने कहा कि अवैध खनन पर कारगर रोक लगाने के साथ ही नए खनन प्लाटों का डेलिनियेशन और उनकी नीलामी के कार्य में गति लानी होगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भी खनिज खोज व खनन पर जोर दिया है। उन्होंने खनिज विभाग को बडे़ व छोटे खनिजों की खोज व खनन कार्य में तेजी लाने के साथ ही अवैध खनन गतिविधियों पर सख्त कार्यवाही के निर्देश दिए।
अवैध खनन के खिलाफ 15 मई से अभियान


डॉ. अग्रवाल ने बताया कि अवैध खनन, परिवहन और भण्डारण के विरुद्ध समूचे प्रदेश में 15 मई से एक माह का अभियान चलाया जाएगा। इसमें पुलिस, राजस्व, वन माइंस और परिवहन विभाग का संयुक्त दल बनाया गया है। समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने अप्रधान खनिजों के नये प्लॉट डेलिनियेशन, राजस्व अर्जन तथा खनिज खोज के लिये निर्देश प्रदान किये।
कोटा जोन के अतिरिक्त निदेशक महावीर प्रसाद मीणा ने बताया कि कोटा में लक्ष्य के विरुद्ध 104 प्रतिशत राजस्व अर्जित कर नया रिकार्ड बनाया है। उन्होंने खान एवं भूविज्ञान विभाग की कोटा विंग द्वारा किये गये कार्यो की प्रगति, प्रधान खनिज आयरन ओर, पोटाश डिपोजिट करौली, कॉपर एवं गोल्ड डिपोजिट दौसा एवं रामगढ़ क्रेटर, बांरा की विस्तार से जानकारी दी।
बैठक में अतिरिक्त निदेशक (खान) एम.पी.मीणा, अतिरिक्त निदेशक (भूविज्ञान) राजकुमार शर्मा, अधीक्षण भूवैज्ञानिक जी.एस.शेखावत, खनिज अभियंता सतर्कता ललित बाछरा, खनिज अभियंता रामगजमंडी देवीलाल बंशीवाल, खनिज अभियंता बून्दी पी.एल.सरोया, वरिष्ठ भूवैज्ञानिक करौली ए.पी. सिंह, वरिष्ठ भूवैज्ञानिक कोटा मोहनलाल कुमावत, भूवैज्ञानिक अंकित सोनी, अजीत कुमार चौधरी व अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

(Visited 68 times, 1 visits today)

Check Also

2 आईआईटीयन का अनूठा स्टार्टअप-बिना मिट्टी रोज उगा रहे 500 किलो सब्जियां

रिसर्च: ‘ईकी फूडस’ के पांच स्थानों पर कृषि फार्म में ग्रोइंग चैम्बर्स से सब्जियों की …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: