Monday, 22 April, 2024

अब कोटा में बनने लगे पासपोर्ट,जयपुर की दौड़ खत्म

विदेश राज्य मंत्री ने किया देश के 37वें पासपोर्ट कार्यालय का शुभारंभ
न्यूजवेव@ कोटा 

कोटा सहित आसपास के 15 जिलों से विदेशों में जाने के इच्छुक लोगों को अब पासपोर्ट के लिये बाहर नहीं जाना पडेगा। शुक्रवार को केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री वी. मुरलीधरन ने कोटा में प्रदेश के दूसरे पासपोर्ट कार्यालय का शुभारंभ किया। उन्होंने पहला पासपोर्ट कोटा निवासी अभिषेक खींची को सौंपा।
सीपी ऑडिटोरियम में आयोजित उदघाटन समारोह में विदेश राज्य मंत्री ने कहा कि 2018 तक राजस्थान में पासपोर्ट के लिए प्रतिवर्ष 3 से 4 लाख आवेदन आते थे, इस वर्ष 6 लाख आवेदन अपेक्षित है। कोटा तथा आसपास के जिलों से 25 से 50 हजार आवेदन आते थे, जो अब बढ़कर एक लाख हो गए हैं। इससे जयपुर के एकमात्र पासपोर्ट कार्यालय पर दबाव था। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला के प्रयासों से कोटा में प्रदेश का दूसरा पासपोर्ट कार्यालय प्रारंभ होने से आमजन को बहुत राहत मिलेगी।
उन्होंने कहा कि 2014 में भारत विश्व की 10वीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था था। लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी केे कुशल नेतृत्व में भारत अब विश्व की पांचवी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था है। विश्व बैंक सहित दुनिया के प्रमुख आर्थिक संस्थान का कहना है कि हम जल्द ही तीसरी सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था होंगे। भारत का निर्यात बाजार 400 बिलियन डॉलर से अधिक का है। इस कारण भारतीयों का विदेश जाना काफी बढ़ा है। जी-20 सम्मेलन के दौरान दुनिया ने पीएम नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में उभरते भारत की ताकत को देखा। डिजिटल क्षेत्र में भारत के बढ़ते कदमों को देख दुनिया के शीर्ष 20 देशों के नेता भी आश्चर्यचकित थे।

देश में  पासपोर्ट सेवा केंद्र 500 से अधिक
मुरलीधरन ने कहा कि 2014 से पहले देश में मात्र 77 पासपोर्ट सेवा केंद्र थे, जिनकी संख्या बीते 9 वर्षों में सात गुना बढ़कर 500 से अधिक पहुंच चुकी है। हम चाहते हैं कि जो भी व्यक्ति पासपोर्ट के लिए आवेदन करे, उसे बिना परेशानी के जल्द से जल्द पासपोर्ट जारी किया जाए। कोटा पासपोर्ट कार्यालय इस दिशा में काफी कारगर सिद्ध होगा।
कार्यक्रम में सवाईमाधोपुर सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया, भाजपा विधायक मदन दिलावर, श्रीमती चंद्रकांता मेघवाल, अशोक डोगरा, संदीप शर्मा, श्रीमती कल्पना देवी, पूर्व विधायक हीरालाल नागर, विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव टी. आर्मस्ट्रांग चांगसान तथा क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी नीतू भगौतिया सहित बड़ी संख्या में प्रबुद्धजन उपस्थित रहे।

(Visited 156 times, 1 visits today)

Check Also

नवनीत ने AcSIR से हिंदी में पीएचडी करने का कीर्तिमान रचा

न्यूजवेव @नई दिल्ली राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 में उच्च शिक्षा में भारतीय भाषाओं को बढ़ावा देने …

error: Content is protected !!