Monday, 27 June, 2022

कॅरिअर पॉइंट द्वारा मात्र 40 हजार रू में क्लासरूम कोचिंग देने की पहल

  • शिक्षा नगरी में तनावमुक्त मुहिम- ‘कोचिंग हर विद्यार्थी के लिये’
  • 12वीं पास विद्यार्थियों के लिये टारगेट कोर्स लांच

न्यूजवेव @ कोटा

कोचिंग विद्यार्थियों के लिये अच्छी खबर। शिक्षा नगरी कोटा में प्रमुख कोचिंग संस्थान कॅरिअर पॉइंट ने 30वें स्थापना दिवस के अवसर पर ‘कोचिंग हर विद्यार्थी के लिये’ मुहिम के तहत 12वीं पास विद्यार्थियों को कोचिंग शुल्क में 75 प्रतिशत छूट देने की घोषणा की है। इसके तहत जेईई एवं नीट-यूजी, 2023 के लिये टारगेट कोर्स में रिपीटर्स विद्यार्थियों को मात्र 40 हजार रूपये में क्वालिटी क्लासरूम कोचिंग दी जायेगी।

Mr Pramod Maheshwari

कॅरिअर पॉइंट के निदेशक प्रमोद माहेश्वरी ने शुक्रवार को पत्रकारों को बताया कि हाल में एक ऑनलाइन सर्वे में कोटा में दो से तीन वर्षों से कोचिंग ले रहे बाहरी राज्यों के विद्यार्थियों ने बताया कि कोरोना महामारी के बाद कोटा की महंगी कोचिंग उनकी पहुंच से बाहर हो गई है, जिससे वे बेहद मानसिक तनाव में हैं। 90 प्रतिशत विद्यार्थियों ने कोचिंग संस्थानों से विद्यार्थी हित में कोचिंग फीस में कटौती करने की मांग की। उनका कहना है कि संस्थानों में फैकल्टी तोड़ने का आर्थिक भार विद्यार्थियों पर नहीं थोपा जाये।
माहेश्वरी ने कहा कि गरीब परिवारों के रिपीटर्स विद्यार्थियों की आर्थिक परेशानी एवं मानसिक तनाव को देखते हुये संस्थान ने नये टारगेट कोर्स में क्लासरूम कोचिंग की वार्षिक फीस जीएसटी सहित मात्र 40 हजार रू. निर्धारित की है, जिसके प्रत्येक बैच में 40 विद्यार्थी होंगे तथा उन्हें अनुभवी फैकल्टी द्वारा क्वालिटी कोचिंग दी जायेगी। इसके तहत 16 जून एवं 20 जुलाई से टारगेट कोर्स के नये बैच प्रारंभ किये जा रहे हैं।
स्टडी मैटेरियल का शुल्क भी शामिल
उन्होंने बताया कि रिपीटर्स विद्यार्थियों को सम्पूर्ण सिलेबस का स्टडी मैटेरियल, एकेडमिक सपोर्ट, नियमित होमवर्क, टेस्ट सीरिज, रिकॉर्डेड लेक्चर्स, डिजिटल लाइब्रेरी, पर्सनल काउंसलिंग जैसी सुविधायें भी उपलब्ध कराई जायेगी। इसके अतिरिक्त उन्हें मोटिवेशनल सेमिनार द्वारा जेईई-मेन, एडवांस्ड एवं नीट-यूजी में सफलता के उपयोगी टिप्स भी दिये जायेंगे।
जेवर या जमीन गिरवी रख कोचिंग ले रहे गरीब विद्यार्थी
एक सवाल के जवाब में माहेश्वरी ने कहा कि कोटा के कोचिंग संस्थानों को पिछले दो से तीन वर्षों से महंगी फीस दे चुके गरीब एवं मध्यम वर्ग के विद्यार्थी प्रवेश परीक्षाओं में चयनित नहीं हो पाने से निराश हैं। उनको डॉक्टर या इंजीनियर बनाने के लिये गरीब अभिभावकों ने जेवर बेचकर, जमीन गिरवी रखकर या उधार लेकर कोटा में दो-तीन वर्षों तक महंगी कोचिंग दिलावाई लेकिन अब प्रवेश परीक्षाओं में अंतिम अवसर होने से वे बेहद तनाव में हैं। कुछ पीड़ित छात्रों ने बताया कि इस वर्ष भी सलेक्शन नहीं हुआ तो वे घर लौटकर माता-पिता को क्या मुंह दिखायेंगे। अभिभावकों ने बच्चों को मानसिक तनाव से बाहर निकालने के लिये कॅरिअर पाइंट संस्थान की इस पहल का स्वागत किया है।

24 घंटे डिजिटल लर्निंग सपोर्ट भी
कोचिंग विद्यार्थियों की इस पीडा को समझते हुये कॅरिअर पॉइंट ने एक मुहिम प्रारंभ कर वार्षिक कोचिंग फीस को 1.60 लाख रू से घटाकर मात्र 40 हजार रू.करने का निर्णय लिया है ताकि कोटा में आने वाला प्रत्येक विद्यार्थी अपना सपना सच करके यहां से लौटे। टारगेट कोर्स के विद्यार्थियों को 24 घंटे डिजिटल लर्निंग का सपोर्ट देते हुये एक्सरसाइज शीट के ऑनलाइन सॉल्यूशन, टेस्ट सीरिज, टेस्ट रिजल्ट, ऑनलाइन क्विज, रिकॉर्डेड विडियो लेक्चर जैसी सुविधायें भी उपलब्ध कराई जायेंगी।

(Visited 98 times, 1 visits today)

Check Also

फिजिक्स वाला विद्यापीठ ने कोटा में खोला क्लासरूम कोचिंग सेंटर

– जेईई-मेन, एडवांस्ड और नीट-यूजी के लिये क्लासरूम कोचिंग, 11वीं एवं 12वीं के ड्रॉपर्स को …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: