Thursday, 2 February, 2023

‘दूसरों से बदला लेने की नहीं, खुद को बदलने की प्रतिज्ञा करो’

धर्मसभा- श्रीमद् भागवत कथा महोत्सव के छठे सोपान में गौसेवक संत पं.प्रभूजी नागर ने हजारों श्रोताओं को निरंतर भक्ति से जुडे़ रहने का संकल्प करवाया
न्यूजवेव @ अटरू/कोटा

मालवा के गौसेवक संत पं.प्रभूजी नागर ने कहा कि जीवन में किसी से बदला लेने की भावना मत रखो, बल्कि स्थिति के अनुसार खुद को बदलने जैसी प्रतिज्ञा लो। जिस तरह हम शरीर बूढा हो जाने पर भी उसका साथ निभाते हैं, उसी तरह, बुरा व्यवहार करने वाले को भी निभा लेना, आपका समय आसानी से निकल जायेगा।


नंदिनी गौ सेवा समिति द्वारा आयोजित श्रीमद भागवत कथा महोत्सव के छठे सोपान में गौसेवक संत पं.नागरजी ने कहा कि जब किसी इंसान का बुरा समय चल रहा हो, आप उसका समाचार अवश्य पूछ लो। मुसीबत में उसकी यथासंभव मदद भी कर दो। श्रीकृष्ण ने महाभारत में प्रतिज्ञा ली थी कि मैं युद्ध में हथियार नहीं उठाउंगा, भीष्म ने प्रतिज्ञा की थी कि प्रभू को हथियार उठवाकर रहूंगा। आखिर, भक्त की मर्यादा के आगे भगवान स्वयं झुक गये और युद्ध में रथ का पहिया लेकर दौडे़ थे। इसी तरह, अश्वत्थामा ने द्रोपदी के पांच बच्चों को मारा था, फिर भी द्रोपदी ने उसे माफ कर दिया था। यही भक्ति का लक्षण है। द्रोपदी, कुंती और उत्तरा तीनों भागवत नारी कहलाई।
जहां भक्ति ‘भाव’, वहां भगवान की ‘आव’


उन्होंने कहा कि सांसारिक जीवन में गरज और कर्ज से हमेशा बचें। भगवान को पाने के लिये सजल नेत्र हों, दोनो हाथ जुडें हों, मस्तक झुका हो, समर्पण भाव हो तो उसकी कृपा अवश्य बरसेगी। होद और कुएं का उदाहरण देते हुये उन्होंने कहा कि बैकुंठ होद में जमा पानी की तरह है। वह खर्च होते ही खाली हो जाती है। अर्थात जब तक पुण्य हैं, तब तक ही बैकुंठ में रहोगेे। जबकि कुआ मत्युलोक की तरह है। इसमें कथा- सत्संग की आव होती है। इसका पानी कभी खत्म नहीं होता है। जब कथा पांडाल भक्ति भाव से भरा हो, वहां भगवान की आव होती है। जिस कथा में संत, विद्धान, साधू, पंडित, तुलसी, तीर्थ सबकी आवभगत होती हो, वहां हरि दर्शन जैसी अनुभूति होती है।
7 दिन में 13 करोड़ जप करेंगे
पं.प्रभूजी नागर ने बताया कि कलिकाल में महामारी और व्याधियों से रक्षा के लिये 2 हजार भक्त एक तीर्थस्थल पर एकत्रित होकर प्रतिदिन 6-6 घंटे बैठकर निःशुल्क सामूहिक जप का महायज्ञ करेंगे, जिसमें 7 दिन में कुल 13 करोड़ जप की तपस्या की जायेगी। वे हर कथा में जप के लिये समर्पित भक्तों से संकल्प फार्म भरवा रहे हैं।
बारां में श्रीमद भागवत कथा 10 फरवरी से


सोमवार को प्रदेश के गौपालन एवं खनन मंत्री श्री प्रमोद जैन भाया एवं बारां जिला प्रमुख श्रीमती उर्मिला जैन भाया अटरू कथा में प्रवचन सुनने पहुंचे। उन्होंने महाआरती के बाद मंच से पांडाल में उपस्थित श्रद्धालुओं को पीले चांवल बांटकर बारां में आगामी 10 से 16 फरवरी तक गौसेवक संत पं.प्रभूजी नागर के मुखारविंद से होने वाले विराट श्रीमद भागवत कथा महोत्सव में प्रत्येक गांव से अधिक से अधिक संख्या में पधारने का न्यौता दिया। गौपालन मंत्री प्रमोद जैन भाया ने अटरू की नंदिनी गौशाला पहुंचकर गौ-पूजन किया। उन्होंने 300 गायों के लिये कैटल शेड बनाने की घोषणा भी की है। नंदिनी गौ सेवा समिति ने उनका आभार व्यक्त किया। अटरू की भागवत कथा में गौभक्त रमेशचंद राठौर ने 7 दिन तक सभी आगन्तुकों के लिये निशुल्क पेयजल सेवा की। एक सेवक ने यहां ठहरने वाले सभी भक्तों के लिये 7 दिन निशुल्क भोजन सेवा की। इस विराट धर्मसभा का मंगलवार को समापन होगा।

(Visited 96 times, 1 visits today)

Check Also

देेश के मसाला उद्यमियों की नेशनल बिजनेस मीट आज से जयपुर में

लोकसभा स्पीकर ओम बिरला शनिवार सायं 4 बजे करेंगे उद्घाटन, रास द्वारा आयोजित नेशनल मीट …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: