Sunday, 7 March, 2021

अब बायजू व आकाश दोनो मिलकर देंगे कोचिंग

*आकाश के अधिग्रहण की खबर गलत, आकाश और बायजू के बीच हुआ बिजनिस पार्टनरशिप करार।कोटा में बढेगा निवेश*

न्यूजवेव@ कोटा
देशभर में लाखों स्टूडेंट्स को ऑनलाइन कोचिंग दे रहे ब्रांड बायजू इंस्टिट्यूट ने अब आकाश इंस्टिट्यूट के साथ मिलकर ऑफलाइन कोचिंग में भी कदम रखने का निर्णय लिया है।
आकाश इंस्टीट्यूट के कोटा रीजनल डायरेक्टर अखिलेश दीक्षित ने उन मीडिया रिपोर्ट्स को भ्रामक और तथ्यहीन बताया है, जिसमें कहा गया है कि आकाश एजुकेशन सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड का ऑनलाइन कोचिंग आधारित कंपनी बायजू द्वारा अधिग्रहण किया जा रहा है। उन्होंने खुलासा किया कि यह सच है कि ऑनलाइन कोचिंग सेगमेंट का सबसे बड़ा आधार स्तंभ बायजू और आफलाइन का देश का नंबर एक कोचिंग संस्थान आकाश इंस्टी्यूट के बीच बिजिनिस पार्टनरशिप डील होने जा रही है, जिसके होने के बाद पूरी दुनिया की सबसे बड़ी एजूकेशन डील होगी। लेकिन यह आकाश और बायजू के बीच बिजनिस पार्टनरशिप डील ही होगी ना कि बायजू आकाश इंस्टीट्यूट का अधिग्रहण करने जा रहा है। इस डील के बाद बायजू आकाश का पार्टनर ही होगा। उन्होंने स्पष्ट किया कि आकाश कोचिंग अपने पुराने मैनेजमेंट और उसी टीम के साथ उसी प्रतिबध्दता के साथ उसी तरह कार्य करता रहेगा।
उन्होंने कहा कि आकाश इंस्टीट्यूट के पूरे देश में 200 से अधिक सेंटर संचालित है, जिसमें लगभग 2.5 लाख बच्चे एनरोल हैं और इस तरह आकाश इंस्टीट्यूट ऑफलाइन कोचिंग सेगमेंट का देश का सबसे बड़ा ब्रांड है। इस डील के बाद उम्मीद की जा सकती है कि आकाश इंस्टीट्यूट के देशभर में 200 से बढ़कर 500 से अधिक सेंटर संचालित हो सकेंगे।
अखिलेश दीक्षित ने कहा कि इस पार्टनरशिप डील के बाद आकाश इंस्टीट्यूट के ब्रांडनेम मंे कोई बदलाव नहीं आएगा, इस डील के बाद बॉयजू, हमारे पुराने फाइनेंसर, ब्लैकस्टोन की जगह लेगा। कोचिंग की सभी गतिविधियां आकाश के नाम से ही संचालित होंगी। उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि चौधरी फैमिली जो कि इस कंपनी के एमडी और सीएमडी हैं वही आकाश का पूरा मैनेजमेंट यथावत संभालेगी। श्री दीक्षित नें यह भी कहा कि आकाश इंस्टीट्यूट आफलाइन कोचिंग का लीडर होने के नाते, कोविड की वजह से बनी नयी परिस्थितियों में, टीचर्स, बच्चों और पैरेन्ट्स की नयी आवश्यकताओं को समझता है, इसलिए बड़े बड़े और बोल्ड स्टेप ले रहा है, जिससे न सिर्फ आकाश इंस्टीट्यूट परिवार को बड़ा फायदा होगा बल्कि ये बड़े और बोल्ड स्टेप आगे चलकर पूरी कोचिंग इंडस्ट्री का नया ट्रेंड बनेंगे।

*कोटा में 50 हजार बच्चों को पढ़ाने की तैयारी*
आकाश इंस्टीट्यूट के कोटा सेंटर के रीजनल डायरेक्टर अखिलेश दीक्षित ने कहा कि यह कोटा शहर के लिए खुशी की बात हो सकती है कि आकाश इंस्टीट्यूट द्वारा कोटा में 40 से 50 हजार स्टूडेंट्स को पढ़ाने की तैयारी करेगा। जिससे कोटा शहर में और भी अधिक रोजगार और आर्थिक उन्नति के द्वार खुलेंगे। उन्होंने कहा कि कोटा में इन्फ्रास्ट्रक्चर की कोई कमी नहीं है और संभवतः इस डील के बाद आकाश के पास निवेश की भी कोई कमी नहीं आएगी। उन्होंने कहा कि कोविड-19 के दौर में आकाश इंस्टीट्यूट ऐसा ब्रांड बना जिसने कोटा में अपनी क्वालिटी सर्विसेज और एजुकेशन के दम पर पिछले वर्ष की तुलना में 30 प्रतिशत से अधिक ऑफलाइन कोचिंग एनरॉलमेंट ग्रोथ की है जो कि अपने आपमें बड़ा अचीवमेंट है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में आकाश इंस्टीट्यूट में देशभर के संस्थानों में ढाई लाख ऑफलाइन एनरॉलमेंट हैं, जो कि आकाश इंस्टीट्यूट को ऑफलाइन कोचिंग का नंबर वन ब्रांड बनाता है। उन्होंने कोटाशहर के सभी टीचर्स, मीडिया और शहरवासियों से अपील की कि वो भी आकाश इंस्टीट्यूट द्वारा 50 हजार बच्चों को कोटा में पढ़ाने के सपने को साकार करने में मददगार बनें।
*गाइडलाइंस के अनुसार देंगे कोचिंग*

अखिलेश दीक्षित ने कहा कि 18 जनवरी से कोचिंग संस्थान खोलने की पूरी तैयारी हो चुकी है। राज्य सरकार की कोविड-19 को लेकर जारी की गई गाइडलाइन के अनुरूप ही पूरी बिल्डिंग को तैयार किया गया है। एंट्री के समय हर स्टूडेंट का टेम्प्रेचर चेक होगा, सेनिटाईजेशन के साथ ही नो मास्क नो एंट्री की पालना होगी। एंट्री गेट पर सभी का आरोग्य सेतु एप चेक होगा, उसमें ग्रीन सिग्नल होने पर ही एंट्री दी जाएगी। बिल्डिंग के अंदर पूरे केम्पस में जहां भी स्टूडेंट जो भी सरफेस टच करता है उसे हर डेढ़ घंटे में क्लासरूम के बाद सेनिटाइज किया जाएगा। ऑफिस के नॉन टीचिंग स्टाफ की 50 प्रतिशत संख्या की गई है।
जगह-जगह पर एसओपी को डिस्प्ले कर दिया गया है। साथ्ज्ञ ही एडमिशन में एकाएक भीड़ ना हो उसके लिए टेबल व काउंसलिंग की व्यवस्था अलग-अलग फ्लोर पर की गई है। साथ ही जो स्टूडेंट क्लासरूम में नहीं पढ़ना चाहेगा उसके लिए 150 कम्प्यूटर की आई ट्यूटर लेब बना दी गई है, जहां सिस्टम पर बैठकर रिकॉर्डेड वीडियो पर अनलिमिटेड प्रेक्टिस कर सकेगा।

(Visited 373 times, 1 visits today)

Check Also

क्यू.आर.कोड से गुमशुदा जानवर को ढूंढना हुआ आसान

कोटा में 10वीं के छात्र नहुश ने अनूठा व सस्ता ‘क्यूआर कोड’ विकसित किया न्यूजवेव@ …

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: